पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सभापति चुनाव आज:जोड़-तोड़ से पार पा लिया तो प्रताप में भाजपा की गढ़ हैट्रिक तय, छोटीसादड़ी में कांग्रेस का रास्ता ज्यादा सुगम

प्रतापगढ़19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक होगा मतदान, इसके तुरंत बाद मतगणना और नतीजे होंगे जारी, प्रतापगढ़ में भाजपा

प्रतापगढ़ नगर परिषद सभापति और छोटीसादड़ी नगर पालिका अध्यक्ष के लिए रविवार को चुनाव होगा। सुबह 10 बजे से दोनों ही नगर निकायों में परिसर के अंदर ही मतदान होगा जो दोपहर 2 बजे तक चलेगा। 2 बजे बाद मतगणना और इसके तुरंत बाद नतीजे जारी होंगे। प्रतापगढ़ में जहां 40 में से 21 वार्ड जीतकर भाजपा बहुमत में है और उनकी तरफ से राम कन्या गुर्जर सभापति की प्रत्याशी है। वहीं छोटीसादड़ी में 25 में से 14 वार्ड जीतकर कांग्रेस की फातेमा बोहरा प्रत्याशी है। फिलहाल जो स्थिति है उसके हिसाब से प्रतापगढ़ में राम कन्या गुर्जर का सभापति बनना तय है तो वहीं छोटीसादड़ी में फातेमा बोहरा का नगर अध्यक्ष बनना तय माना जा रहा है।

अगर प्रतापगढ़ में भाजपा जोड़-तोड़ की राजनीति से पार पा लेती है तो यहां पर लगातार तीसरी बार गढ़ जीतकर हैट्रिक का रिकॉर्ड बनाएगी। कांग्रेस अगर सेंध कर लेती है तो 40 में से 19 वार्ड जीतने के बावजूद उनकी तरफ से जया कुमावत सभापति बन सकती है।

जबकि छोटीसादड़ी में अगर कांग्रेस अपना बोर्ड बना लेती है तो वहां भाजपा के हैट्रिक के सपने को तोड़ देगी। सभापति चुनाव से पहले शनिवार का दिन दोनों ही पार्टियों के लिए काफी बेचैनी भरा रहा। पार्टियों के प्रमुख पदाधिकारी दिन भर चुनावी रणनीति बनाने में जुटे रहे।

भाजपा की किलेबंदी और रणनीति के आगे बेबस नजर आ रही कांग्रेस
प्रतापगढ़, छोटीसादड़ी दोनों ही जगह से भाजपा के जीते हुए सभी प्रत्याशियों को निंबाहेड़ा और नीमच में बाड़ाबंदी में रखा गया है। प्रतापगढ़ से 21 जबकि छोटीसादड़ी से 11 प्रत्याशियों को इन बाड़ा बंदी में रखा गया है। भाजपा ने इन प्रत्याशियों की किलाबंदी कुछ इस तरह से की है कि उनकी रणनीति के आगे फिलहाल कांग्रेस बेबस सी नजर आ रही है।

भाजपा में पूर्व यूडीएच मंत्री श्रीचंद कृपलानी, पूर्व मंत्री नंदलाल मीणा के पुत्र हेमंत मीणा, भाजपा जिलाध्यक्ष गोपाल कुमावत के नेतृत्व में चुनावी रणनीति को तैयार किया गया है। फिलहाल सूत्रों की माने तो ऐसी स्थिति है कि अभी तक कांग्रेस इस बाड़ाबंदी में सेंध नहीं लगा पाई है। ऐसे में अगर इनकी रणनीति कामयाब रहती है तो भाजपा लगातार तीसरी बार प्रतापगढ़ में हैट्रिक लगाते हुए अपना बोर्ड बनाएगी और रामकन्या गुर्जर सभापति बनेंगी।

छोटीसादड़ी में कांग्रेस आशवस्त
छोटीसादड़ी में 25 में से चार निर्विरोध पार्षदों के दम पर 14 वार्ड जीतकर कांग्रेस बोर्ड बनाने का दम भर रही है। यहां फिलहाल सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना के नेतृत्व में कांग्रेस बोर्ड बनाने को लेकर कांग्रेस पूरी तरह आश्वस्त नजर आ रही है।

हालांकि भाजपा यहां पर हैट्रिक बनाने से जरूर चूक रही है लेकिन फिलहाल अपने जीते हुए सभी 11 पार्षद के एकतरफा वोट को लेकर अपनी साख बचाने की कोशिश में है।

भाजपा के सभी 11 पार्षद और कांग्रेस के सभी 14 पार्षद फिलहाल बाड़ा बंदी में है। भाजपा की कोशिश है कि किसी भी तरह से उनका कोई पार्षद क्रॉस वोटिंग नहीं करें तो कांग्रेस​​​​​​​

उपसभापति का चुनाव कल, दोनों ही पार्टियों ने नहीं खोले पत्ते
प्रतापगढ़ नगर परिषद उपसभापति और छोटीसादड़ी नगर पालिका में उपाध्यक्ष के लिए 8 फरवरी को चुनाव होना है। फिलहाल दोनों ही जगहों पर भाजपा या कांग्रेस किसी ने भी उपाध्यक्ष के लिए अपने पत्ते नहीं खोले हैं।

लेकिन प्रतापगढ़ में भाजपा की तरफ से जहां दीपक डोसी, अमित जैन, प्रीति सोमानी या थमीश मोदी में से कोई चेहरा पार्टी रख सकती है तो वहीं कांग्रेस में सेवंतीलाल चंडालिया, दिग्विजय सिंह राणावत, कौशल्या देवी, सुशील गुर्जर उपसभापति के लिए दावेदार हो सकते हैं।

भाजपा के लिए उपरोक्त सभी चेहरे बड़े हैं, क्योंकि दीपक डोसी जहां पूर्व सभापति कमलेश डोसी के भाई हैं तो वही अमित जैन भाजपा के युवा मोर्चा के सक्रिय नेता है और पूर्व पालिका अध्यक्ष पारसमल जैन के पुत्र हैं। इसी तरह प्रीति सोमानी भाजपा के नगर अध्यक्ष रितेश सोमानी की पत्नी है। थमीश मोदी पार्टी के बड़े कार्यकर्ताओं में से एक है। इसी तरह कांग्रेस में चंडालिया पूर्व पार्षद है, दिग्विजय सिंह सेवा दल के जिलाध्यक्ष तो कौशल्या देवी​​​​​​​

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह गोचर और परिस्थितियां आपके लिए लाभ का मार्ग खोल रही हैं। सिर्फ अत्यधिक मेहनत और एकाग्रता की जरूरत है। आप अपनी योग्यता और काबिलियत के बल पर घर और समाज में संभावित स्थान प्राप्त करेंगे। ...

और पढ़ें