पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मेडिकल कॉलेज स्वीकृत:कांग्रेस सरकार की बेरुखी से प्रतापगढ़ जिले में स्वीकृत नहीं हो पाया मेडिकल कॉलेज : सांसद

प्रतापगढ़24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जोशी ने कहा केंद्र सरकार ने मेडिकल कॉलेज खोलने वाले जिलों की लिस्ट मांगी तो पहली सूची में प्रतापगढ़ का नाम ही नहीं भेजा, स्वीकृति पूरी होने के बाद आधे अधूरे प्रस्ताव के साथ भेजा था प्रतापगढ़ का नाम

प्रतापगढ़ जिले को मेडिकल कॉलेज स्वीकृत नहीं होने का मुख्य कारण राजस्थान सरकार की मंशा नहीं होना रहा। प्रदेश की कांग्रेस सरकार की दुर्भावना के कारण प्रतापगढ़ जिला मेडिकल कॉलेज से वंचित रहा। भाजपा जिला मीडिया प्रभारी हार्दिक अरुण छोरिया ने बताया कि प्रतापगढ़ जिले में क्षेत्रीय सांसद सीपी जोशी ने कई प्रयास किए, परंतु राजस्थान की कांग्रेस सरकार की प्रतापगढ़ जिले से दुर्भावना के कारण प्रतापगढ़ में मेडिकल कॉलेज स्वीकृत नहीं हो पाया।

सांसद सीपी जोशी ने प्रतापगढ़ में मेडिकल कॉलेज अभी तक स्वीकृत नहीं होने के पीछे कारण बताया कि केंद्र की मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में 75 मेडिकल कॉलेज देशभर को दिए, जिनमें से 15 मेडिकल कॉलेज अकेले राजस्थान में स्वीकृत हुए। प्रदेश सरकार से जब केंद्र सरकार ने कॉलेज के प्रस्ताव मांगे, तब प्रथम बार प्रदेश सरकार ने मात्र 15 मेडिकल कॉलेज के ही प्रस्ताव भेजे थे। जिस सूची में प्रतापगढ़ का नाम नहीं था। इसके बाद जब केंद्र सरकार ने स्वीकृति जारी कर दी तो राज्य सरकार ने आधी अधूरी जानकारी के साथ प्रतापगढ़ का नाम फिर से केंद्र सरकार को मेडिकल कॉलेज के लिए भेजा था।

बिना किसी भेदभाव के दिए थे मेडिकल कॉलेज : सांसद ने बताया कि पहली सूची भेजने के बाद प्रतापगढ़ में न ही मेडिकल कॉलेज की भूमि आवंटन प्रक्रिया हुई थी, न ही अन्य प्रशासनिक तैयारियां पूर्ण की गई थी। राजस्थान सरकार द्वारा केंद्र की मोदी सरकार को प्रथम सूची में भेजे गए सभी 15 जिलों के लिए मेडिकल कॉलेज की स्वीकृति प्रदान की गई थी। केंद्र की मोदी सरकार ने बिना किसी राजनीतिक भेदभाव के राजस्थान में चिकित्सा शिक्षा एवं स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को सुदृढ़ बनाने के लिए कदम उठाया।

इन आरोपों का दे रहे हैं जवाब : भाजपा जिलाध्यक्ष गोपाल कुमावत ने बिना किसी का नाम लिए कहा कि प्रतापगढ़ के कांग्रेस के स्थानीय जनप्रतिनिधि यह अफवाह आमजन के मध्य फैला रहे हैं कि केंद्र सरकार ने मेडिकल कॉलेज स्वीकृत नहीं किया। ऐसे में जनप्रतिनिधि बताए कि प्रतापगढ़ जिले का का नाम प्रदेश सरकार द्वारा भेजी गई प्रस्तावों की पहली सूची में क्यों नहीं था? यदि उन्हें जानकारी का अभाव हो तो वह प्रदेश सरकार से जानकारी मांगे। यदि प्रदेश सरकार उन्हें जानकारी नहीं उपलब्ध करवाती है तो केंद्र सरकार से उन्हें जानकारी उपलब्ध करवाने का कार्य हम करेंगे। केंद्र सरकार द्वारा सभी 75 मेडिकल कॉलेज स्वीकृत करने के पश्चात प्रतापगढ़ जिले का प्रस्ताव देरी से भेजा, यदि प्रदेश सरकार पहली सूची में प्रतापगढ़ जिले का प्रस्ताव बना कर केंद्र सरकार को भेजती तो मोदी सरकार प्रतापगढ़ जिले में मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए तत्पर थी।

खबरें और भी हैं...