पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना गाइडलाइन के तहत ही अफीम की तुलाई:अफीम तुलाई आज से, दो केंद्र बनाए, यहां दो शिफ्ट में होगी तुलाई, मास्क अनिवार्य

प्रतापगढ़15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहले दिन दोनों सेंटर पर 320 किसानों को बुलाया, मार्फिन की अनिवार्यता पिछले साल से 0.2 प्रति. बढ़ाकर 4.2 प्रति. की, गाइडलाइन नहीं बनने से अंतिम तिथि अभी जारी नहीं हुई

प्रतापगढ़ और छोटीसादड़ी में 7 अप्रैल से अफीम की तुलाई शुरू हो रही है। पिछली बार की तर्ज पर इस बार भी कोरोना गाइडलाइन के तहत ही अफीम की तुलाई की जाएगी। इस बार मार्फिन की अनिवार्यता 4.2% की है। जो पिछले साल की तुलना में 0.2% ज्यादा है।

जिले के 7530 किसानों की अफीम तोली जाएगी। वैसे तो नारकोटिक्स विभाग की ओर से जिले में कुल 359 गांव के 7769 किसानों को अफीम के पट्टे जारी किए गए थे। लेकिन प्रतापगढ़ में 47 और छोटीसादड़ी में 192 किसानों सहित कुल 239 किसानों ने हंकाई (फसल उखाड़ने) के लिए आवेदन किया है। ऐसे में कुल 7530 किसानों की अफीम तुलाई ही होगी। प्रतापगढ़ में धरियावद नाके स्थित तुलसी रिसोर्ट में तुलाई का कार्य होगा, जबकि छोटीसादड़ी में आर्य समाज स्कूल में तुलाई की जाएगी। तुलाई को लेकर दोनों ही जगहों पर तैयारियां कर ली गई है। इस बार हाथ की जगह ओवन मशीन से ही अफीम की तुलाई होगी, ऐसे में समय ज्यादा लग सकता है।

विभाग की ओर से बुधवार को पहले दिन सांवर माता का खेड़ा, खड़खड़ा, दोराना, उच्छमानिया, खोरिया, बिल्ला खेड़ा, सेमल खेड़ी, चमनपुरा और कुलथाना के 160 किसानों को बुलाया गया है। इन किसानों को सुबह और दोपहर के 2 शिफ्ट में बुलाया गया है। सुबह के शिफ्ट में 80 और दोपहर के क्षेत्र में भी 80 किसान तुलवाई के लिए पहुंचेंगे। इसी तरह छोटीसादड़ी में भी 160 किसानों को तुलवाई के लिए बुलाया गया है।

कोरोना गाइडलाइन की पालना करनी होगी
प्रतापगढ़ में इस बार होटल सोहन पैलेस की जगह धरियावद स्थित तुलसी रिसोर्ट में अफीम की तुलाई होगी। पिछली बार कोरोना की वजह से तुलाई का काम नवंबर, दिसंबर में किया गया था। तुलाई और अफीम की जांच भी हाथ से हुई थी।

इस बार कोरोना गाइडलाइन की वजह से सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क की अनिवार्यता, सैनिटाइजिंग और स्क्रीनिंग के बाद ही अंदर प्रवेश जैसी प्रक्रिया जारी रहेगी। विभाग ने प्रतापगढ़ में केवल जगह बदली है कोरोना के नियम वही रहेंगे।

47 किसानों की फसल हंकाई अंतिम चरण में
1. प्रतापगढ़ खंड :
जिले में कुल 2 खंडों में अफीम की तुलाई होती है। इनमें प्रतापगढ़ खंड में प्रतापगढ़ के साथ अरनोद क्षेत्र के किसानों को भी शामिल किया जाता है। जिला अफीम अधिकारी एडवर्ड रोजारियो ने बताया कि इस वर्ष विभाग की ओर से 171 गांव में कुल 4150 किसानों ने अफीम बुवाई की थी।

लेकिन प्राकृतिक या अन्य कारणों की वजह से 47 किसानों ने 269 हेक्टेयर में बोई गई अफीम हंकाई के लिए आवेदन दिए थे। हंकाई की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। बुधवार से शुरू हो रहे तोल को लेकर विभाग की ओर से तैयारियां पूरी कर ली गई है।
2. छोटीसादड़ी खंड : जिले के दूसरे खंड छोटी सादड़ी में इस साल 188 गांव के कुल 3916 किसानों को अफीम बुवाई के लाइसेंस दिए गए थे। किसानों ने 208 हेक्टेयर में बुवाई की थी। छोटीसादड़ी खंड के जिला अफीम अधिकारी डीके सिंह ने बताया कि इनमें से 192 किसानों ने हंकाई के लिए आवेदन किया था। इनके अफीम की फसल उखड़वाई गई है। अफीम का तौल छोटी सादड़ी में आर्य समाज स्कूल में किया जाएगा।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने के लिए प्रयासरत रहेंगे। घर में किसी नवीन वस्तु की खरीदारी भी संभव है। किसी संबंधी की परेशानी में उसकी सहायता करना आपको खुशी प्रदान करेगा। नेगेटिव- नक...

    और पढ़ें