पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पानी की जगह बरसी आफत:तेज हवा से घंटाली में सात घरों के टीन शेड उड़े, 3 साल के बच्चे का अंगूठा कटकर अलग हुआ

प्रतापगढ़20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • चरपोटा पाडा गांव में मंगलवार रात की घटना, रात और दिन का तापमान घटा

जिले में मानसून की नाराजगी का दौर जारी है। बुधवार को भी दोपहर तक तेज गर्मी और उमस के बाद आसमान में बादल छाए, लेकिन अच्छी बारिश की जगह आसमान से तेज हवा की आफत आ गई। इस वजह से कई जगह नुकसान हो गया। घंटाली के चरपोटा पाडा में मंगलवार देर रात तेज हवा और बादलों की गर्जना के साथ मौसम परिवर्तन हुआ, लेकिन बारिश की जगह तूफान आया और काफी कुछ बर्बाद कर दिया। यहां 7 घरों के ऊपर लगे टीन शेड किसी तिनके की तरह हवा में उड़े और इस दौरान 1 बच्चे के हाथ का अंगूठा भी इसकी चपेट में आने से कट गया।

ऐसा ही कुछ दृश्य प्रतापगढ़ शहर और आसपास के क्षेत्रों में भी दिखाई दिया। जहां बुधवार दोपहर बाद मौसम एकदम से पलटा और आसमान में काले घने बादल छा गए, इस कारण दिन में भी काफी अंधेरा हो गया। हालांकि बारिश तो ज्यादा नहीं हो सकी और करीब घंटे भर तक रिमझिम का दौर रुक रुक कर चलता रहा। लेकिन हवा और बादलों की गड़गड़ाहट के कारण लोगों में बिजली गिरने का डर बैठ गया। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार को दिन का तापमान 39.5 डिग्री से घटकर 37.5 डिग्री तथा रात्रि का तापमान 27 डिग्री से घटकर 26 डिग्री होना दर्ज किया गया।

अनाज बिखरा, बाइक व अन्य सामान क्षतिग्रस्त

घंटाली/पीपलखूंट उपखंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत घंटाली के चरपोटा पाडा में मंगलवार देररात चमचमाती बिजली और मेघ की गरजनों के बीच अचानक गोली कि रफ्तार से आई तेज हवाओं ने सौ मीटर के दायरे में तांडव मचा दिया। लगभग सात सटे हुए घरों को तहसनहस करके रखा दिया। इस दौरान राजू पुत्र विरजी चरपोटा का तीन वर्ष के पुत्र लोकेश चरपोटा घर में सो रहा था। तेज गति से आई हवा से घर के ऊपर लगे टीन शेड व सीमेंट के लगे चद्दर उड़ गए। इस बीच कोई भारी भरकम वस्तु लोकेश के हाथ पर लगने से हाथ की अंगूठा कटकर अलग हो गई। राजू के घर में रखा चार पांच बोरी अनाज व किराने का सामान हवा में उड़कर पूरी तरह से बिखर गया।

मन्सुख पुत्र विरजी के एक हजार स्कवायर फीट पर बने मकान पर लगे 16 टीन शेड गिर गए। जिससे घर में रखी मोटरसाइकिल, कपड़े सिलाई करने की मशीन नीचे दब जाने से टूट गए व घर का अन्य समान खराब हो गया। मणीलाल पुत्र रकमा के दो दिन पूर्व ही नए घर पर टीन शेड लगाए थे। जो रात में आई तेज आंधी अपने साथ उड़ा ले गई। उसके घर से चद्दर उड़कर एक बिजली विभाग के खंभे में जाकर अटक गई और पूरी तरह से टूट फूट गई। जीवा पिता मंगलीया के मकान पर लगे केलू पोश उड़कर नीचे आ गिरे। घर के अन्दर से बहार भाग कर लोगों ने अपनी जान बचाई। नाथू पुत्र कालू भील के मकान पर लगे बीस टीन शेड तकरीबन सौ से ज्यादा मीटर की दूरी पर जा गिरे।

खबरें और भी हैं...