पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एड्स छीन रहा खुशियां:जिले में 1190 पीड़ित, कई हुए संपत्ति से बेदखल, संक्रमित 9 मांओं के बच्चाें काे संक्रमण से बचाया

राजसमंद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विश्व एड्स दिवस मंगलवार को मनाया जाएगा। जिले में 1190 एड्स पीड़ित हैं। जिले में 565 महिलाएं, 553 पुरुष और 72 बच्चे एचआईवी से ग्रसित हैं। कुंभलगढ़, नाथद्वारा, राजमसंद, देवगढ़ ब्लाॅक के ज्यादा मरीज हैं। इस साल एचआईवी पीड़ित महिलाओं से जन्मे 9 बच्चाें काे समय पर दवा, टीके, उपचार और लगातार 18 महीने तक फाॅलाेअप कर मां से बच्चें में संक्रमण फैलने से बचा लिया गया। इसके लिए संक्रमित महिला का प्रसव संस्थागत हाे इसका सबसे पहले ख्याल रखा जाता है। इसके बाद संक्रमित मां से जन्मे बच्चे काे 45 दिन तक सिरप देते हैं। जाे कि बच्चे के जन्म के 72 घंटे के अंदर देनी हाेती है। इससे बच्चे में संक्रमण फैलने का खतरा नहीं रहता। 6 महीने तक बच्चाें का दूध अनिवार्य पिलाने पर जाेर दिया जाता है।

विश्व एड्स दिवस आज : काउंसलिंग कर परिवारों को जोड़ रहे

1. भीम का 40 साल का पेशे से ड्राइवर व्यक्ति छह महीने पहले एचआईवी ग्रसित हाेने से डिप्रेशन में आ गया। उसकी हालत ऐसी हाे गई कि वह मरने जैसी हालत में पहुंच गया। जिला मुख्यालय के एनजीओ ने उसे लगातार दवाइयों की सुविधा उपलब्ध करवा कर और समझाइश कर परिवार से वापस जाेड़ने से उसका मनाेबल बढ़ा। दवाइयों से वह ठीक हाे गया और अब वह बहुत खुश है और फिर से वाहन चलाकर अपने परिवार का पेट पाल रहा है।
2. डेढ़ साल पहले राजसमंद ब्लाॅक का रहने वाला 32.साल का युवक और उसकी 28 साल की पत्नी एचआईवी पीड़ित हाेने पर परिजनाें ने उनकाे इसलिए घर से निकाल दिया कि उनसे यह बीमारी परिवार में फैल जाएगी। ऐसे में रिश्तेदाराें काे समझाना मुश्किल हाे गया। आखिरकार परिवारजन काउंसलिंग पर मान गए और दंपती अपने परिवार के साथ ही रह रहा है।
परिजनाें ने उनकाे इसलिए घर से निकाल दिया कि उनसे यह बिमारी परिवार में फैल जाएगी।
3. रेलमगरा की 3. साल की महिला एड्स पीड़ित हाेने पर रिश्तेदाराें ने एक साल पहले महिला काे घर से निकाल दिया और संपत्ति से बेदखल कर दिया। उसकी हालत और खराब हाे गई जब उसके पति की माैत हाे गई। ऐसे में परिवार काे खासी मशक्कत कर मनाया और महिला काे संपत्ति दिलवा दी। अभी यह महिला अपने तीन बच्चाें के साथ खुशी का जीवन बिता रही है।

साथ खाने पीने और रहने से नहीं फैलता एड्स

11 साल से एड्स पीड़िताें काे समाज की मुख्य धारा में जाेड़कर खुशहाल जीवन बनाने के लिए जिला मुख्यालय पर एनजीओ राजसमंद नेटवर्क फाेर पीपुल लिविंग विथ एचआईवी संस्थान अध्यक्ष माेतीलाल देवड़ा ने बताया कि एचआईवी ग्रसित मरीज काे समाज में घृणित नजराें से देखा जाता है। उनके साथ भेदभाव किया जाता है। उन्हें परिवार, संपत्ति से बेदखल कर दिया जाता है। वास्तव में यह राेग साथ में रहने, साथ में भाेजन करने से नहीं फैलता है। इसके फैलने की मुख्य वजह असुरक्षित याैन संबंध बनाने, संक्रमित ब्लड चढ़ाने, संक्रमित सुई लगाने और संक्रमित मां से बच्चे काे फैलता है।

पीड़ितों के बच्चों को बचाने पर दे रहे जोर

एचआईवी पीड़ित महिलाओं के बच्चे में संक्रमण फैलने का खतरा राेकने पर काम किया जा रहा है। 6 माह तक बच्चाें का दूध अनिवार्य पिलाने पर जाेर दिया जाता है। इसके बाद 6 माह से 18 माह तक बच्चे काे सीपीटी दवा देकर एचआईवी हाेने से इस साल 9 बच्चाें काे संक्रमित हाेने से बचा लिया गया। राज्य सरकार की ओर से भी विविध याेजनाओं से एचआईवी पीड़िताें काे लाभ पहुंचाया जाता है। राेडवेज में भी 75 प्रतिशत छूट का पास मिलता है। एड्स पीड़िताें के दवा और सुविधाएं उपलब्ध कराने में कांकराेली के जेके टायर प्रबंधन भी अहम याेगदान रहता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser