शिशोदा भैरूजी में 33 दिन में 41 लाख का चढ़ावा:व्यवस्थाएं पारदर्शी होने के बाद बढ़ी आय, पहले 7 महीने में आए थे 13 लाख

राजसमंद7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दान पात्र से निकले रुपयों की गणना करते हुए कर्मचारी।  - Dainik Bhaskar
दान पात्र से निकले रुपयों की गणना करते हुए कर्मचारी। 

नाथद्वारा उपखंड क्षेत्र के शिशोदा गांव स्थित क्षेत्रपाल भैरूजी मंदिर की दान पेटी खोली गई। भेंट पेटी पूरी भर जाने के कारण 33 दिन में ही खोलने का निर्णय लिया। गुरुवार को श्रीशिशोदा भैरूजी मंदिर प्रबंधन समिति द्वारा दान पेटी खोली गई। दान पेटी में 33 दिनों में 41 लाख 6 हजार 120 रुपए का चढ़ावा आया। जिसको श्रीशिशोदा भैरूजी के बैंक खाते में जमा करवाया गया।

इससे पहले 21 अक्टूबर को 7 महीने बाद दान पेटी को खोला गया था, उस समय 13 लाख 65 हजार आए थे। मंदिर में चढ़ावे की राशि दान पेटी में डालने और व्यवस्था पूर्ण रूप से पारदर्शी बनाने के लिए कमेटी अध्यक्ष और नाथद्वारा उपखंड अधिकारी अभिषेक गोयल ने 2 सुरक्षा गार्ड तैनात कर दिए। सुरक्षा गार्ड ने सभी श्रद्धालुओं को चढ़ावे की हर राशि दान पेटी में डालने के लिए कहा। इसके बाद चढ़ावे में बढ़ोत्तरी हुई। मंदिर में आय-व्यय का ब्यौरा जैसे ही सार्वजनिक होने लगा, वैसे ही मंदिर की आय एक साथ बढ़ गई है।

मंदिर में पेटी खोलकर नकदी की गिनती देलवाड़ा तहसीलदार हुकम कंवर, उप कोषाधिकारी नाथद्वारा के नेतृत्व में की गई। इस दौरान राजस्व निरीक्षक जगदीश पुरोहित, रामचंद्र सिंह झाला, शिवलाल तेली, रविन्द्र श्रीमाली, प्रियरंजन त्रिवेदी, सहायक प्रशासनिक अधिकारी नाथद्वारा भंवर सिंह, लेखाकार नाथद्वारा विरेन्द्र सिंह मोजावत, शिशोदा कनिष्ठ लिपिक लीलाधर जोशी, सरोज सूर्या, लीलाधर जोशी, खमनोर कांस्टेबल हरिराम, दिनेश आदि मौजूद थे।

व्यवस्था पारदर्शी होते ही बढ़ी आय
शिशोदा के भैरूजी मंदिर में सुरक्षा गार्ड लगने के बाद चढ़ावा राशि में चमत्कारिक बढ़ोतरी हुई है, जिससे प्रशासनिक अधिकारी और कर्मचारी भी हैरान रह गए। पहले ज्यादातर राशि लोग खुले में पाट पर ही रख देते थे, लेकिन अब चढ़ावे की राशि पेटी में ही डाली जाने लगी है।

सवा लाख का चढ़ावा प्रतिदिन
क्षेत्रपाल भैरूजी मंदिर में सुरक्षा गार्ड लगने के बाद प्रतिदिन सवा लाख रुपए का चढ़ावा आ रहा है। इससे पहले प्रतिदिन करीब 6 हजार रुपए का चढ़ावा प्रतिदिन के हिसाब से होता था। व्यवस्थाओं को प्रशासन द्वारा पारदर्शाी करने के बाद चढ़ावे में बढ़ोतरी हुई है।

खबरें और भी हैं...