पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राजसमंद में सियासी बवाल:बीडीओ का प्रधान पर 2 कराेड़ रु. मानहानि का केस, बीडीओ को हटाने के लिए आंदोलन करेगी भाजपा

राजसमंद25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भीम प्रधान वीरम सिंह के बयान पलटने के बाद अब भाजपा बनाम बीडीओ

भीम में 27 लाख रुपए लेकर प्रधान बनाने के बयान से शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। प्रधान वीरम सिंह के बयान पलटने के बाद भीम भाजपा ने बीडीओ के खिलाफ माेर्चा खाेल दिया है। बुधवार को भीम भाजपा की बैठक में सभी सातों मंडल अध्यक्ष, पंचायत समिति सदस्यों ने भीम बीडीओ डा. रमेश चंद्र मीणा के खिलाफ कानूनी कार्रवाही करने की मांग की। बीडीओ को हटाने के लिए ज्ञापन, धरना प्रदर्शन आदि करने की योजना बनाई। इधर, बीडीओ मीणा ने बुधवार शाम को प्रधान वीरम सिंह के खिलाफ मानहानि की रिपोर्ट भीम थाने पर दी। देर रात को बीडीओ की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

भीम भाजपा की बैठक बुधवार दिन में पूर्व विधायक हरिसिंह रावत, सातों मंडलों के अध्यक्ष, पंचायत समिति सदस्य आदि शामिल हुए। बैठक में प्रधान वीरम सिंह काे बीडीओ द्वारा गुमराह करने, प्रताड़ित करने आदि मामलों में कानूनी कार्रवाही करने की मांग की गई। बैठक में ही एडवोकेट से कानूनी राय भी ली गई। बीडीओ ने प्रधान को ब्यावर में ले जाकर घटना की, इसके लिए ब्यावर थाने पर बीडीओ के खिलाफ मामला दर्ज कराने का निर्णय लिया गया।

पूर्व विधायक हरिसिंह रावत ने बताया कि भीम बीडीओ को हटाने के लिए पहले सीईओ, कलेक्टर को ज्ञापन दिया जाएगा। इसके बाद बीडीओ को नहीं हटाया जाता है तो भीम पंचायत समिति कार्यालय के बाहर धरना-प्रदर्शन किया जाएगा। प्रधान वीरम सिंह द्वारा हरिसिंह रावत पर भ्रष्टाचार के आराेप के बाद यह सियासी विवाद नित नए रूप ले रहा है। पूर्व विधायक हरिसिंह रावत पर 27 लाख रुपए लेने का आराेप लगा ताे उन्हाेंने माैजूदा कांग्रेस विधायक सुदर्शन सिंह व उनके पिता पूर्व मंत्री लक्ष्मण सिंह रावत काे इसके लिए जिम्मेदार बताया था।

वहीं लक्ष्मण सिंह रावत ने भी प्रेस वार्ता कर हरिसिंह की बेनामी संपत्ति का खुलासा किया था। मंगलवार काे भीम प्रधान ने राजसमंद पहुंचकर पूर्व विधायक हरिसिंह के चरणााें में झुककर 27 लाख रुपए देने की बात से इनकार कर दिया। साथ ही सारे मामले का विलन बीडीओ काे बताया और यह भी कहा कि बीडीओ ने नाश्ते में नशीला पदार्थ खिलाकर बेसुध कर दिया। उनके लेटरहेड का गलत इस्तेमाल किया गया।

संगठन की जांच पूरी नहीं हुई है

जांच समिति सदस्य करण सिंह राव ने बताया कि अभी तक जांच समिति की जांच पूरी नहीं हुई है। केवल प्रधान ने मीडिया के सामने आकर खुलासा किया है, जबकि जांच समिति अपने स्तर पर पूरी जांच कर आगामी दिनों में रिपोर्ट जिला अध्यक्ष को सौंपेगी। इसके बाद ही निर्णय लिया जाएगा।

प्रधान ने अभद्रता की : बीडीओ मीणा

बीडीओ डाॅ. रमेश चंद्र मीणा ने प्रधान वीरम सिंह के खिलाफ दो करोड़ रुपए मानहानि की रिपोर्ट भीम थाने पर दी। बताया कि वे दो साल से भीम में बीडीओ है। 15 दिसंबर को कार्यग्रहण के बाद से प्रधान वीरम सिंह ने कार्यालय में आकर अभद्रतापूर्ण व्यवहार किया। पूर्व विधायक पर लगाए भ्रष्टाचार के आराेप से वे पलट गए। उन्हें बहकाया जा रहा है। प्रधान वीरमसिंह फोन कर धमकियां दे रहे हैं। इससे राजकीय कार्य करने में परेशानी आरही है। प्रधान ने खुले रूप से सोशल और न्यूज मीडिया में उनके खिलाफ बयान दिए। इससे उनकी प्रतिष्ठा की क्षति हुई। प्रधान के खिलाफ दो करोड़ का मानहानि का दावा दर्ज और कार्यकर्ताओं सहित पर कानूनी कार्यवाही करने की मांग की।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...