पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

संक्रमण की दूसरी लहर हावी:67 पाॅजिटिव, संक्रमण दर फरवरी में 1.16% थी, अब बढ़कर 8.90%, 6 दिन में ही 385 पाॅजिटिव

राजसमंद16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नाथद्वारा के बाद राजसमंद, खमनाेर, रेलमगरा में भी बढ़ रहे मरीज

जिले में काेराेना संक्रमण की दूसरी लहर में लगातार पाॅजिटिव बढ़ रहे हैं। स्थितियां पिछले साल से भी ज्यादा भयावह हाे रही है। जिले में मंगलवार काे 67 संक्रमित आए। इनमें सर्वाधिक 18 राजसमंद के हैं। जबकि 16 खमनाेर से, 13 नाथद्वारा से, 9 रेलमगरा से, 6 आमेट और 5 संक्रमित केलवाड़ा से मिले हैं। संक्रमण की दूसरी लहर इतनी तेजी से फैल रही है कि नाइट कर्फ्यू के हालात बन रहे हैं।

नाथद्वारा में संक्रमण कुछ कम हाेने के बाद धीरे-धीरे यह पूरे जिले में फैल गया है। संक्रमण दर बढ़कर 8.90 प्रतिशत पहुंच गइर् है। अप्रैल के 6 दिन में राेजाना 77 की औसत से मरीज मिले हैं। जिले में लॉकडाउन के एक महीने बाद पहला पॉजिटिव पिछले साल 24 अप्रैल को आया था। पूरे अप्रैल में दो ही पॉजिटिव आए थे, लेकिन इस साल अप्रैल छह दिन में 385 संक्रमित मिल चुके हैं। गत साल दिसंबर तक 4286 कोरोना पॉजिटिव आए थे। सितंबर में सर्वाधिक 1005 मरीज मिले थे। दिसंबर में 931 मरीज मिले।

साल बदला और जनवरी में मरीजों की संख्या 500 से नीचे आ गई। फरवरी भी राहत वाला रहा, लेकिन मार्च में कोरोना ने फिर से रंग दिखाना शुरू कर दिया। मार्च में कुल 616 रोगी मिले। हालात फिर से 2020 जैसे नजर आने लगे।

साेमवार 5 अप्रैल काे एक ही दिन में काेराेनाकाल के अब तक के सर्वाधिक 83 पाॅजिटिव मिले हैं। दूसरे दिन मंगलवार काे 67 मरीज सामने आए। इस माह के छह दिन में ही 385 संक्रमित मिल चुके हैं। यानी 77 मरीज राेज मिले। गत साल काेराेना से 43 लोगों की मौत हुई थी। इस साल चार माह में अब तक 6 लोगों की जान गई है।

2020 तब 0000

तब पहला रोगी नाथद्वारा क्षेत्र के करोली में 24 अप्रैल 2020 को मिला। पहली मौत बड़ारड़ा निवासी 60 साल के वृद्ध ने कोरोना से दम तोड़ा पहले 500 रोगी 26 जुलाई 2020 काे जिले में हुए। पहले 1000 रोगी 21 अगस्त 2020 को हुए। पहले 5000 रोगी 23 मार्च 2021 को हुए।

2021 में 0000

अब पहला कर्फ्यू अभी तक नौबत नहीं आई है, लेकिन सावधानी जरूरी।
पहला नाइट कर्फ्यू नाथद्वारा में 26 मार्च रात नौ बजे बाद बाजार बंद करने के आदेश, सुबह सात बजे तक। अभी भी लागू है।
पहले सबसे ज्यादा रोगी 5 अप्रैल को 83 रोगी मिले।
कोरोना इतिहास में पहली बार 12 फरवरी को 28 केस रह गए थे।
सबसे कम एक्टिव रोगी : अब सबसे ज्यादा एक्टिव केस भी तीन अप्रैल को 507 हुए। पिछले साल भी इतने नहीं थे। उस समय एक्टिव केस कभी 362 से ऊपर नहीं गए थे।
अब तक 5 लोगों की सांसें थमी
माह सैंपलिंग केस पॉजिटिव% मौतें
जनवरी 9852 287 2.91 3
फरवरी 7353 85 1.16 0
मार्च 12365 616 4.98 3
अप्रैल 7332 385 8.90 0

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने के लिए प्रयासरत रहेंगे। घर में किसी नवीन वस्तु की खरीदारी भी संभव है। किसी संबंधी की परेशानी में उसकी सहायता करना आपको खुशी प्रदान करेगा। नेगेटिव- नक...

    और पढ़ें