पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राज्य बजट आज:राजसमंद में पीपीपी मोड पर मेडिकल काॅलेज, मार्बल मंडी, भीम में चंबल का पानी लाने के लिए चाहिए स्वीकृति

राजसमंद2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले की 3 विधानसभाओं के विधायकों ने भेजे प्रस्ताव, राजसमंद विधायक सीट खाली होने से सरकार रखेगी यहां की मांगों पर ध्यान
  • ऑनलाइन उद्घाटन-समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा था-जहां विधायकों की सीट खाली है, वहां विकास का ध्यान सरकार रखेगी

बजट से जिलेवासियाें काे काफी उम्मीदें हैं। राजसमंद विधानसभा सीट पर उपचुनाव हैं। पिछले दिनों मंत्री, विधानसभाध्यक्ष यहां सक्रिय थे। मुख्यमंत्री ने भी यहां के 112 विकास कार्याें का उद्घाटन, शिलान्यास किया था। आरके अस्पताल सहित जिले में 22 डॉक्टरों की नियुक्ति हुई थी। ऐसे में लोगों को बजट से काफी उम्मीदें हैं। जिले के नाथद्वारा, कुंभलगढ़, भीम-देवगढ़ विधायकों ने बजट को लेकर अपने क्षेत्र की जरूरतों के प्रस्ताव बनाकर भेजे हैं।

राजसमंद में विधायक किरण माहेश्वरी के निधन से सीट खाली है। ऐसे में यहां से कामों के प्रस्ताव जयपुर नहीं गए हैं, लेकिन ऑनलाइन उद्घाटन, शिलान्यास में मुख्यमंत्री स्पष्ट कर चुके थे कि उपचुनाव वाली विधानसभाओं में नए विधायक चुने जाने तक सरकार वहां की जरूरतों का ध्यान रखेगी। इस स्थिति में लोगों को बजट से काफी उम्मीदें हैं।

राजसमंद में मेडिकल काॅलेज, मार्बल मंडी, पर्यटन विकास के लिए घाेषणाओं की आस है। इसी प्रकार भीम-देवगढ़ क्षेत्र के लिए सबसे बड़ी आस चंबल परियाेजना से पानी लाने के लिए वित्तीय स्वीकृति की उम्मीदें है। जबकि कुंभलगढ़ विधानसभा क्षेत्र में बरसों से लंबित पड़ी बेड़च का नाका परियाेजना से पानी की समस्या काे खत्म करने की आस है।

इधर, बजट से आमजन को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में प्रदेश की तरफ से कुछ राहत मिलने की उम्मीद है। कोरोनाकाल को देखते हुए इस बार बजट में चिकित्सा सुविधाओं, संसाधनों पर ज्यादा ध्यान देने की संभावना जताई जा रही है।

राजसमंद विधानसभा : झील में पानी लाने, पर्यटन बढ़ाने की जरूरत
मार्बल मंडी : राजसमंद के मार्बल की देश ही नहीं विदेशाें में भी डिमांड रहती है, लेकिन मार्बल मंडी स्थापित करने की मांग तीन दशक से पूरी नहीं हो पाई है। मार्बल मंडी बनने पर मार्बल उद्यमियों को बड़ा फायदा होगा।
राेडवेज डिपाे : तीन साल पहले के बजट में नई बसाें की स्वीकृति मिली थी, लेकिन राजसमंद राेडवेज डिपाे लंबे समय से बसाें की कमी से जूझ रहा है। वर्तमान में डिपाे पर 18 बसाें की जरूरत है। वर्तमान में 38 बसाें में से 29 रुटाें पर ही राेडवेज बसाें का संचालन हाे रहा है। बसाें की कमी से बीस रूट बंद पड़े हैं।
मेडिकल कॉलेज : पिछले बजट में मेडिकल काॅलेज की घोषणा हो चुकी है। जिले में प्राइवेट कॉलेज होने से पेच फंस रहा है। पिछले दिनों चिकित्सा मंत्री पीपीपी मोड पर कॉलेज खोलने की घोषणा कर चुके हैं। मेडिकल काॅलेज खुलने पर जिलेवासियाें काे काफी लाभ मिलेगा।
पर्यटन विकास: एशिया में जयसमंद के बाद मीठे पानी की दूसरी बड़ी राजसमंद झील पर पर्यटन बढ़ाने के लिए पैराग्लाइंडिग, वाटर स्पो‌र्ट्स जैसी गतिविधियां शुरू करवाने की जरूरत है। इससे पर्यटन बढ़ने के साथ ही स्थानीय लाेगाें काे राेजगार भी मुहैया हाेगा।

कुंभलगढ़ विधानसभा
पानी, तालाब, सड़काें के प्रस्ताव कुंभलगढ़ विधायक सुरेंद्र सिंह राठाैड़ ने क्षेत्र में पेयजल की समस्या के निराकरण के लिए बेड़च का नाका परियाेजना, आमेट-जिलाेला कोशीथल सड़क का प्रस्ताव भेजा है। यह सड़क मेगा हाइवे से जुड़ सकती है। वाडिया का टूकलिया राजकीय स्कूल सहित आमेट के अन्य स्कूलाें काे क्रमाेन्नत करने, वाडिया का टूकलिया, कुंभलगढ़ और आमेट क्षेत्र के छाेटे तालाब, एनीकट तैयार करने के लिए प्रस्ताव भेजे हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री हीरालाल देवपुरा ने 21 साल पहले बेड़च का नाका परियाेजना का शिलान्यास किया था। इसके बाद अशाेक गहलाेत और वसुंधरा राजे के कार्यकाल में बजट घाेषणा की गई, लेकिन पेयजल याेजना मूर्तरूप नहीं ले पाई है। परियाेजना स्वीकृत हाेती है ताे कुंभलगढ़ क्षेत्र की 5 पंचायतों के 50 गांव-ढाणियाें के लाेगाें काे पेयजल की समस्या से निजात मिलेगी।

भीम-देवगढ़ ​​​​​​​

850 गांव-ढाणियों के लिए चंबल परियाेजना से आस : विधायक सुदर्शन सिंह रावत ने चंबल परियाेजना से पानी लाने की याेजना के लिए वित्तीय स्वीकृति दिलाने का प्रस्ताव भेजा है। इससे क्षेत्र की 54 पंचायताें के 150 किमी लंबे इलाके में 275 राजस्व गांव और 850 ढाणियाें में पानी की समस्या खत्म हाे जाएगी।
दिवेर काे उप तहसील बनाना: दिवेर काे उप तहसील बनाने, शेखावास पुलिस चाैकी काे पुलिस थाने में क्रमाेन्नत करने, देवगढ़ काॅलेज में विज्ञान संकाय शुरू करने, भीम और देवगढ़ काे जाेड़ने वाली ताल लसानी सड़क और भीम उपखंड में एडीजे काेर्ट का प्रस्ताव भेजा है।​​​​​​​

नाथद्वारा विधानसभा
शहर में महिला थाना, पर्यटन विकास केंद्र की आस :
धार्मिक पर्यटक नगरी नाथद्वारा को बजट से कई आशाएं है। लोगों का मानना है कि शहर और क्षेत्र का विकास पर्यटन नगरी के तौर पर होना चाहिए। इससे स्थानीय युवाओं को रोजगार मिले और व्यापार बढ़े। श्रीजी दर्शन करने आने वाले दर्शनार्थियों का शहर में ठहराव बढ़ाने से लेकर शहर की यातायात व्यवस्था, महिला सुरक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं में वृद्धि की आशाएं हैं। संकरी सड़कों को चाैड़ा और मोड़ को कम करने की जरूरत है। महिला थाने की भी वर्षों से मांग की जा रही है।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें