पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

तीनाें कृष्णधाम अनलॉक:श्रीनाथजी, द्वारकाधीश, चारभुजाजी में 210 दिन बाद दर्शन आज से, मास्क जरूरी, तापमान जांचकर प्रवेश

राजसमंद6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्रीनाथजी में आज राजभाेग और आरती झांकी, द्वारकाधीश में मंगला, राजभाेग, अारती व चारभुजाजी में दिनभर खुले रहेंगे दर्शन

जिले के तीनाें कृष्णधाम नाथद्वारा में श्रीनाथजी, कांकराेली में प्रभु द्वारकाधीश तथा गढ़बाेर में भगवान चारभुजानाथ के पट साेमवार से दर्शनार्थियाें के लिए खुल लाएंगे। तीनाें ही मंदिराें में ट्रायल के ताैर पर 19 से 30 अक्टूबर तक के लिए श्रद्धालुओं के लिए दर्शन खुल रहे हैं। इस दरिमियान काेराेना महामारी का असर नहीं रहा ताे मंदिराें काे श्रद्धालुओं के लिए पहले की तरह यथावत खाेल दिया जाएगा।

श्रीनाथजी मंदिर में 30 अक्टूबर तक नाथद्वारा नगरपालिका क्षेत्र के श्रद्धालु ही दर्शन कर पाएंगे। उन्हें भी टाेकन के आधार पर प्रवेश देंगे। टाेकन नहीं हाेने पर प्रवेश नहीं मिलेगा। पहले दिन श्रीनाथजी मंदिर में दाेपहर काे राजभाेग तथा शाम काे भाेग आरती झांकी के दर्शन हाेंगे। शेष दर्शनाें में श्रद्धालुओं काे प्रवेश नहीं देंगे। मंगलवार से मंगला दर्शन में भी श्रद्धालु जा सकेंगे।

द्वारकाधीश तथा चारभुजानाथ मंदिर में स्थानीय के अलावा बाहर के श्रद्धालु भी दर्शन कर सकेंगे। दर्शनार्थियाें काे मास्क पहनकर अाना हाेगा। साेशल डिस्टेंसिंग काे ध्यान में रखते हुए प्रवेश दिया जाएगा। इसके लिए मंदिराें में गाेले बनवाए हैं। उल्लेखनीय है कि काेराेना महामारी के चलते तीनाें मंदिराें के पट 20 मार्च से श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए थे। श्रीनाथजी में लक्ष्मी विलास गेट पर मंदिर के सुरक्षाकर्मी रहेंगे।

इनमें से एक थर्मल स्क्रेनिंग से दर्शनार्थियाें का टेम्प्रेचर जांचेगा ताे दूसरा कर्मचारी पास देखकर इसकी इंट्री करेगा। हर श्रद्धालु का नाम लिखा जाएगा। इस प्रक्रिया में समय लगेगा, इसलिए दर्शनार्थियाें को दर्शन समय से एक घंटा पहले बुलाया जा रहा है।

श्रीनाथजी मंदिर : 3200 श्रद्धालुओं ने करवाया पंजीयन, पास के लिए 27 तक हाेते रहेंगे आवेदन, श्रीजी में सिर्फ नाथद्वारावासी और बाकी जगह सबकाे दर्शन

साेमवार काे पहला दिन हाेने से राजभाेग तथा भाेग अारती तथा मंगलवार से 27 अक्टूबर तक दिन में तीन दर्शन हाेंगे। इनके साथ मंगला के दर्शन भी करवाए जाएंगे। थर्मल जांच तथा पास देखने के लिए दर्शनार्थियाें को दर्शन समय के 1 घंटा पहले आना होगा। राजभोग का समय 11 बजे है तो दर्शनार्थी को 10 बजे लक्ष्मीविलास गेट पर पहुंचना होगा। गेट पर दर्शनार्थी की जांच होगी।

टाेकन लाना, मास्क पहनकर आना अनिवार्य होगा। मंदिर मंडल ने 13 अक्टूबर से शहरवासियों को दर्शन करवाने के लिए पंजीयन प्रक्रिया शुरू की थी। अभी तक 3 हजार 200 शहरवासी पंजीयन कर पास ले चुके हैं। पंजीयन 27 अक्टूबर तक हाेता रहेगा। साेशल डिस्टेंसिंग के लिए पास ले चुके श्रद्धालुअाें में से भी हर दर्शन में केवल 500 को ही प्रवेश दिया जाएगा।

सेवा वालों, मनाेरथियाें को यहां से मिलेगा प्रवेश
मंदिर में कार्यरत सेवा वालों को प्रीतम पोल गेट से परिचय पत्र दिखाने पर प्रवेश मिलेगा। अभी तक सेवा वाले तीनों गेट से आ-जा रहे थे। अब आगामी आदेश तक प्रीतम गेट से ही प्रवेश होगा। मनोरथी को तिलकायत की आज्ञा से विशेष पास मिलेगा। इन्हें लक्ष्मी विलास से समाधान होते हुए प्रवेश मिलेगा। वीआईपी के लिए 1 नवंबर से प्रवेश के नियम बनाए जाएंगे, तब तक उन्हें भी तिलकायत की आज्ञा से ही मनोरथी के साथ दर्शन करवाए जाएंगे।

काेराेना में श्रीनाथजी में 85 सुरक्षाकर्मी ही थे, दर्शन शुरू हाेने पर बढ़ाकर 120 किए

श्रीनाथजी मंदिर में काेराेनाकाल में दर्शनार्थियाें का प्रवेश बंद हाेने के दाैरान कुछ महीनाें से सुरक्षाकर्मी कम कर दिए थे। अब दर्शन खुलने के साथ ही सुरक्षाकर्मी बढ़ा दिए हैं। अब तक 85 सुरक्षाकर्मी पारी के हिसाब से ड्यूटी दे रहे थे। अब 35 अन्य को सोमवार सुबह से बुलाया गया है। कुल 120 सुरक्षाकर्मी दर्शन और सुरक्षा व्यवस्था देखेंगे। रविवार को मंदिर अधिकारी सुधाकर शास्त्री, डिप्टी रोशन पटेल सहित अन्य अधिकारियों ने व्यवस्था का निरीक्षण किया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें