ग्रामीणों ने विधानसभा अध्यक्ष से की मुलाकात:सीपी जोशी से की चारागाह जमीन को रिको एरिया घोषित होने से रुकवाने की मांग, बोले- पशु बेचने के लिए होना पड़ेगा मजबूर

राजसमंद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी से मुलाकात करते हुए ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी से मुलाकात करते हुए ग्रामीण।

सालोर ग्राम पंचायत के राजस्व गांव मल्लाखेड़ी के ग्रामीणों ने विधानसभा अध्यक्ष और स्थानीय विधायक डॉ. सीपी जोशी को ज्ञापन सौंपकर गांव की चारागाह जमीन को रिको एरिया घोषित होने से रुकवाने की मांग की। ज्ञापन देने पहुंचे ग्रामीणों ने कहा कि चारागाह जमीन पर रिको एरिया घोषित हो जाता है, तो क्षेत्र के पशुपालकों को अपने पशु बेचने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

ग्रामीण ईश्वरलाल चौधरी ने बताया कि राजस्व गांव मल्लाखेड़ी में 200 बीघा चारागाह जमीन है। इसके चारों तरफ ग्रामीणों ने पत्थर की कच्ची दीवार बना रखी है। साथ ही पेड़-पौधे लगाकर देखभाल के लिए एक चौकीदार नियुक्त किया है। जिसे ग्रामीणों की ओर से मेहनताना दिया जाता है। राजस्व गांव मल्लाखेड़ी में इस चारागाह जमीन के अलावा और काई जमीन मवेशियों को चराने के लिए नहीं है।

ग्रामीणों ने बताया कि अगर इस चारागाह जमीन पर रिको एरिया बनाया जाता है तो गांव के पशुपालकों को पशु चराने में संकट हो जाएगा। ग्रामीणों को पशु बेचने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। रिको एरिया से निकलने वाले केमिकल से आसपास की खेती की जमीनें खराब हो जाएगी। ग्रामीणों ने विधायक को ज्ञापन देकर मल्लाखेड़ी चारागाह जमीन को रिको एरिया घोषित होने से रुकवाने की मांग की। इस दौरान शंकरलाल, रमेश, मांगीलाल, भंवरलाल, भैरूलाल, महेंद्र गुर्जर, पोखरलाल गुर्जर सहित कई ग्रामीण मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...