राजसमंद में 6.8 डिग्री पहुंचा न्यूनतम पारा:लगातार दूसरे दिन छाया रहा घना कोहरा, 40 मीटर दूरी पर भी कुछ नजर नहीं आया

राजसमंदएक वर्ष पहले
गोमती-उदयपुर नेशनल हाइवे पर घना कोहरा छाने से गाड़ियों की रफ्तार कम हो गई।

राजसमंद जिले में लगातार दूसरे दिन कोहरा और बादल छाए रहे। घने कोहरे के कारण 40 मीटर की दूरी पर भी कुछ दिखाई नहीं दिया। कड़ाके की सर्दी के कारण सोमवार को सुबह लोग देर तक घरों में ही रहे। कोहरे के चलते सड़कों पर वाहनों की संख्या भी कम दिखी। लोग जगह-जगह अलाव जलाकर हाथ सेंकते नजर आए। जिले के धार्मिक और पर्यटन स्थलों पर पर्यटकों की संख्या घट गई। घने कोहरे के कारण गाड़ी सवारों को लाइट लगाकर सुबह 9 बजे तक वाहन चलाने पड़े।

जिले में मौसम की जानकारी देने वाले किसान राधेश्याम कीर ने बताया कि सोमवार सुबह अधिकतम पारा 22.5 डिग्री और न्यूनतम पारा 6.8 डिग्री रहा। उन्होंने बताया कि कोहरे के कारण रबी की फसल पर कोई असर नहीं पड़ेगा। हवा में नमी बनी हुई है। अगले कुछ दिनों में पाला पड़ सकता है। किसान फसल क्षेत्र में अनावश्यक चीजों को जलाए। ताकि धुएं से खेत में कोहरे का असर कम हो और फसलों को नुकसान नहीं हो।

धार्मिक और पर्यटन स्थलों पर हुई संख्या कम
सर्दी के प्रकोप और कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी के चलते जिले के धार्मिक और पर्यटन स्थलों पर आने वाले लोगों की संख्या में कमी देखी गई। कुंभलगढ़ दुर्ग पर सर्दी में मौसम का मजा लेने आने वाले पर्यटक कम पहुंच रहे हैं, जिससे कुंभलगढ़ क्षेत्र में होटल खाली पड़ी हुई है। महाराणा प्रताप की युद्ध स्थली हल्दीघाटी आने वाले पर्यटकों की संख्या भी कम हो गई है। विश्व प्रसिद्ध श्रीनाथजी मंदिर में श्रद्धालुओं की कमी से व्यापारी चिंतित है।

खबरें और भी हैं...