पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हल्दीघाटी के योद्धाओं को दी श्रद्धांजलि:गलत तथ्यों वाले शिलालेखों को तुरंत बदला जाए, नहीं तो प्रदेशभर में करेंगे विरोध- प्रदर्शन

राजसमंदएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हल्दीघाटी विजय दिवस पर शुक्रवार को जय राजपूताना संघ के कार्यकर्ताओं ने रक्ततलाई में छतरियों पर पुष्पांजलि और दीप प्रज्ज्वलित कर वीर योद्धाओं को नमन किया। संघ की ओर से हर साल हल्दीघाटी विजय दिवस पर शौर्य गर्जना रैली निकाली जाती है। लेकिन इस बार कोरोनाकाल की पाबंदियों को देखते हुए कार्यक्रम को सीमित रखा गया।

संघ के संस्थापक भंवर सिंह रेटा ने रक्ततलाई स्थित शिलालेखों में अंकित गलत तथ्यों को तुरंत बदलने की मांग की। रेटा ने कहा कि शिलालेख पर युद्ध तिथि 18 जून के बजाय 21 जून अंकित है। साथ ही यह भी लिखा गया है कि इस युद्ध में प्रताप की सेना को पीछे हटना पड़ा। यह न केवल ऐतिहासिक रूप से गलत है बल्कि पूरे मेवाड़ के लिए अपमानजनक भी है। अगर जिम्मेदार इस पर कोई एक्शन नहीं लेते हैं तो संघ की ओर से पूरे प्रदेश में अभियान चलाकर विरोध किया जाएगा। साथ ही उन्होंने 18 जून को देशभर में गौरव दिवस के रूप में मनाने की मांग भी रखी।

कार्यक्रम में संभाग संयोजक प्रभु सिंह सिसोदिया, विजय सिंह भुकाला, कार्यक्रम में विजय सिंह भुकाला, प्रभु सिंह सिसोदिया, अरविंद सिंह राठौड़ नला, नारायण सिंह सादड़ा, श्याम सिंह बामनियावेर, गौरव सिंह करण जी का गुड़ा सहित मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...