मौसम बदला, मावठ से बढ़ी सर्दी:रबी की फसलों को फायदा, गलन भरी हवा ने लोगों को ठिठुराया, कोहरे से विजिबिलिटी कम

राजसमंद/नाथद्वारा6 महीने पहले

मावठ की बारिश गुरुवार दोपहर तक जारी रही। रात को भी रुक-रुककर बरसात हुई थी। नाथद्वारा के आस-पास गांवों की बिजली बंद रही। गलन भरी हवा ने लोगों को ठिठुरा दिया। कोहरे के कारण विजिबिलिटी कम हो गई। वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ा। लोगों ने अलाव का सहारा लेकर सर्दी से बचाव किया। मावठ रबी की फसलों के लिए फायदेमंद है, मगर लगातार बरसात से नुकसान की संभावना है।

रात के शिव प्रतिमा के आसपास बादलों का अनूठा नजारा।
रात के शिव प्रतिमा के आसपास बादलों का अनूठा नजारा।

बाइक चालकों की बढ़ी मुश्किल
शीतलहर और बारिश से बाइक चालकों की मुश्किल बढ़ गई। सुबह दुध सप्लाई करने वाले, अखबार सप्लाई वाले सहित बाइक चालकों को ठंड के साथ बारिश से भी बचाव करना पड़ रहा है।

कोहरे से घिरी शिव प्रतिमा
नाथद्वारा के गणेश टेकरी पर बनी दूनिया की सबसे ऊंची 351 फीट की शिव प्रतिमा कोहरे से घिर गई। 10 किमी दूर तक से दिखने वाली शिव प्रतिमा करीब आधे किमी तक भी नहीं दिखी।

खबरें और भी हैं...