पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सर्दी:जगळ का बैल आंखों पर पट्‌टी बांध बना रहा सर्दी का मेवा

राजसमंद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जेके सर्कल स्थित देसी घाणी से भेरू लाल तेली जगळ बना रहा है। चित्तौड़ जिले के पहुंना गांव के पास ऊंचा क्षेत्र से आए भेरू लाल तेली ने बताया कि हमारे यहां बैल से चलने वाली घाणी जो धीरे धीरे चल कर जगळ को छोटे से छोटे रूप में पिसता है। घाणी से बनाए हुए शुद्ध तेल लोगों की सेहत के लिए लाभदायक है। इसको सर्दी का मेवा भी कहा जाता है। तिल्ली, देसी गुड़, बादाम और खोपरे से बनाया हुआ जगळ शहरवासियों की विशेष पसंद रहती है। जगळ को करीब-करीब सब लोग ले जाते हैं। देसी जगळ कम रेट पर सेहत के लिए अच्छी रहती है। इसको दवाई के रूप में भी खाते हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser