पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रेलमगरा से खबर:बजरी गश्त पर तैनात सिविल डिफेन्स के जवानों को माफियाओं ने दी जान से मारने की धमकी

राजसमंद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बजरी परिवहन करता वाहन पकड़ा तो गुस्साए बजरी माफिया

उच्च न्यायालय से बजरी खनन पर रोक होने के बावजूद बनास नदी से धड़ल्ले से हो रहे बजरी खनन की रोकथाम के लिए कलेक्टर के आदेशों के बाद विभिन्न जगह तैनात किए गए सिविल डिफेन्स के जवानों की गश्त बजरी माफिया के गले की फांस बन गई है। इसके चलते ये माफिया अब इन जवानों को भी जान से मारने की धमकी देने पर आमादा होने लगे हैं।

सोमवार को सिविल डिफेन्स के जवान रेलमगरा थाना क्षेत्र के चौकड़ी गांव में गश्त कर रहे थे। इसी दौरान नदी क्षेत्र से एक डम्पर में बजरी परिवहन करते देखा। इस पर जवानों ने डम्पर को रूकवाने का प्रयास किया, लेकिन डम्पर चालक डम्पर को तेज गति से चलाते हुए जवानों की तरफ बढ़ने लगा। जवानों ने एक तरफ होकर खुद को बचाया और बाद में घेरा डालकर डम्पर को रूकवाने में सफलता प्राप्त की।

मौके पर बजरी माफियाओं की भीड़ हो गई और मौके पर पहुंचे भूरवाड़ा निवासी राकेश कुमावत, ओड़ा निवासी गोटू लाल सहित करीब 7 लोग सिविल डिफेन्स के जवानों से बहस करने लग गए। जवानों ने अपनी ड्यूटी का हवाला देते हुए बजरी की रखवाली करने के लिए गश्त करना बताया तो बजरी माफियाओं ने बजरी का परिवहन करने से रोकने की दशा में जान से मारने की धमकी दी।

कहा कि भविष्य में बजरी के वाहनों को रोकने का प्रयास किया गया तो जवानों के परिवार इंतजार ही करते रह जाएंगे और जवानों को वाहनों तले कुचल दिया जाएगा। इस आशय को लेकर चौकड़ी में तैनात सिविल डिफेन्स के जवान सुनिल कुमार शर्मा, सुरेशचंद्र कुमावत आदि ने बजरी भरा डम्पर जब्त कर थाना पुलिस को सुपुर्द किया अाैर धमकी देने की शिकायत की। मामले को लेकर थानाधिकारी छगन पुरोहित ने बजरी माफियाओं के विरुद्ध मामले की छानबीन शुरू कर दी।

खबरें और भी हैं...