बयान / हमारी पारंपरिक चिकित्सा पद्धति का अलग महत्व है : मुख्यमंत्री गहलोत

X

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 08:18 AM IST

राजसमंद. सीएम अशोक गहलोत और चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने वीसी के माध्यम से आयुर्वेद अधिकारियों तथा डाक्टरों से सीधी वार्ता की। सीएम ने कहा कि विश्व का ध्यान आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति की तरफ हैं। एलोपैथी अपनी जगह है लेकिन हमारी पारंपरिक चिकित्सा पद्धति का अलग महत्व है। वीसी में चिकित्सा मंत्री ने आयुर्वेद विभाग टीम वर्क के साथ अग्रणी भूमिका में टोल नाके, घर-घर सर्वे, काढ़ा वितरण, कोरोना  वारियर्स को सूखा काढ़ा वितरण, क्वारेंटाइन सेंटर पर आयुर्वेदिक क्वाथ और औषधि वितरण आदि कर रहा है। शासन सचिव गायत्री राठौड़ ने कहा कि अभी तक 21 लाख लोगों को काढ़े से लाभान्वित किया जा चुका है। साढ़े चार लाख पुलिसकर्मी, अन्य कोरोना वारियर्स को भी सूखा काढ़ा वितरण किया।

विभागीय निदेशक सीमा शर्मा और डॉ. विनोद सैनी ने बताया कि इस अभियान में पिछले 25 दिनों से क्वारेन्टाइन सेंटर राजसमंद में भी प्रवासियों को संक्रमण से बचने के लिए आयुर्वेदिक क्वाथ के साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक औषधीय दी जा रही है। प्रवासी अब सरकारी खजाने में कुछ अनुदान भी दे रहे हैं। उपनिदेशक डाॅ. वीरेंद्र महात्मा ने बताया कि इस कार्यक्रम की पूरी रिपोर्टिंग निदेशालय विभाग को राेजाना भिजवाई जा रही है। समय-समय पर इन क्वारेन्टाइन सेंटर्स का निरीक्षण कर उचित दिशा निर्देश प्रदान किए। वीसी में सहायक निदेशक प्रद्युमन राजौरा, डाॅ. अजय दाधीच आदि मौजूद थे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना