धर्म / रमजान महीने के अंतिम जुमे पर लोगों ने एक-दूसरे को मुबारकबाद दी

People congratulated each other on the last issue of Ramadan month
X
People congratulated each other on the last issue of Ramadan month

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 08:25 AM IST

राजसमंद.  मुस्लिम समुदाय के रमज़ानुल मुबारक अंतिम दौर में चल रहा है। रमजान महीने का शुक्रवार को अलविदा जुमा था। इस मौके पर मुस्लिम धर्मावलंबियों ने कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन के चलते अपने घरों में ही नमाज अदा की। अलविदा अलविदा माहे रमजान अलविदा लोगों ने अपने घरों में पढ़ा। इस महीने में छोटे-छोटे बच्चों के साथ हर उम्र के लोग लगभग 15 घंटे भूखे-प्यासे रहकर रोजे रख रहे हैं। वहीं, खुदा की इबादत भी घरों में रहकर ही कर रहे हैं। रोजा इफ्तारी व सहरी भी अपने घरों में रह कर रहे हैं। शुक्रवार को अलविदा जुमा होने से लोगों ने फोन पर एक-दूसरे को मुबारकबाद दी।
लाॅकडाउन में रोजे रख घर में ही कर रहे इबादत
नाथद्वारा। रमजान के महीने के अंतिम जुमे यानि जमातुल विदा पर शुक्रवार को मुस्लिम समाज के लोगों ने अपने घरों में नमाज अदा की। मुस्लिम समाज के अध्यक्ष रमजू मंसूरी ने बताया कि इस बार कोरोना महामारी के कारण सादगी से ईद का त्योहार मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि देश इस महामारी के कारण ठहर सा गया है। ऐसे में लोग मस्जिदों की बजाय घरों में रह कर इबादत कर रहे हैं और खुदा की बारगाह में हाथ उठा कर सबके लिए दुआ कर रहे हैं। लॉकडाउन में बड़ों के साथ ही छोटे बच्चे भी रोजे रख कर इबादत में लगे हुए हैं। मंसूरी ने बताया कि शुक्रवार को 28वां रोजा रखा गया। यदि शनिवार को चांद दिखाई देता है तो इदुल फितर रविवार को होगी नहीं तो फिर सोमवार को ईद मनाई जाएगी। इस बार कोरोना महामारी के चलते लोग ईद की खरीदारी की बजाय जरूरतमंद लोगों की सहायता में लगे हुए है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना