फरारा में दो दिवसीय एसडीएमसी प्रशिक्षण कार्यशाला संम्पन्न:सालवी ने कहा- स्कूल के सर्वांगीण विकास में सामुदायिक गतिशीलता की अहम भूमिका

राजसमंद7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सीबीईओ समग्र शिक्षा ब्लॉक राजसमंद क्षेत्र अंतर्गत राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय फरारा में चल रही दो दिवसीय एसडीएमसी एवं एसएमसी सदस्यों की सामुदायिक गतिशीलता एवं विद्यालय के सर्वांगीण विकास में जन भागीदारी व भामाशाहों की अहम भूमिका की थीम पर आधारित प्रशिक्षण कार्यशाला का समापन हुआ। कार्यशाला पीईईओ लच्छीराम सालवी की अध्यक्षता एवं एसडीएमसी प्रभारी शिक्षिका वीणा वैष्णव के मुख्य आतिथ्य में हुई।

प्रभारी शिक्षिका वैष्णव ने बताया कि कार्यशाला के पहले सत्र में सरस्वती वंदना, दीप प्रज्वलन एवं संभागियों का परिचय किया गया। इसके बाद दक्ष प्रशिक्षक रमेशचंद्र भांड व्याख्याता राउमावि साकरोदा एवं सोहनलाल कुमावत प्रधानाध्यापक राउप्रावि लवाणा ने पीईईओ फरारा के अधीन राप्रावि, उप्रावि, मावि के साथ राउमावि में रजिस्टर्ड एसडीएमसी एवं एसएमसी अध्यक्षों, सचिवों व सभी सदस्यों को राज्य सरकार की मीड-डे मील योजना, निशुल्क पाठ्य पुस्तक वितरण योजना, विभिन्न प्रकार की छात्रवृत्तियां, विद्यालयों में दिए जाने वाले फंड, पालनहार योजना, बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने संबंधित जानकारी दी।

इसके साथ ही आपकी बेटी योजना, गार्गी पुरस्कार, साइकिल और स्कूटी वितरण योजना के साथ स्कूल में शत प्रतिशत नामांकन एवं ठहराव पर विभिन्न जानकारियां प्रदान कर गहन चर्चा की। वैष्णव ने बताया कि पहले दिन मास्टर ट्रेनर ने कार्यशाला में उपस्थित सभी 9 स्कूलाें के सदस्यों को एसडीएमसी व एसएमसी की अवधारणा, गठन की प्रक्रिया, कार्य एवं दायित्व के साथ निशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा अधिनियम 2009 की जानकारी दी। समापन कार्यक्रम में पीईईओ सालवी ने स्कूल के सर्वांगीण विकास में सामुदायिक गतिशीलता, जन भागीदारी व भामाशाहों की अहम भूमिका पर बल दिया।

खबरें और भी हैं...