मेवाड़ प्रवर्तक मदनमुनि को संथारा पचखाण किया:अहमदाबाद में चल रहा था इलाज, बुधवार को नाथद्वारा लेकर आएंगे

राजसमंदएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मदनमुनि (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
मदनमुनि (फाइल फोटो)

श्रमण संघीय मेवाड़ प्रवर्तक गुरुदेव मदनमुनि मारासा का स्वास्थ्य खराब होने पर मंगलवार को अहमदाबाद में संथारा पचखाण किया गया। गत दिनों से तबीयत खराब होने पर अहमदाबाद में उनका इलाज चल रहा था। जहां डाक्टरों ने गुरुदेव की हालत स्थिर बताई। मेवाड़ उप पर्वतक कोमलमुनि ने गुरुदेव मदन मुनि को संथारा के पचखान किया। उनकी उम्र 90 साल के करीब है।

गुरुदेव को बुधवार को अहमदाबाद से नाथद्वारा लेकर आएंगे। इस दौरान अहमदाबाद संघ के श्रावकगण शांतिलाल नाहर, भंवरलाल नाहर, मुलचन्द, हीरालाल खाब्या, शिवलाल हिगड़, डालचंद हिगड़, शंभुलाल ललवाणी, किशनलाल कोठारी, मुकेश पामेचा, अशोक रांका, भरत रांका, कमलेश नाहर, नवरतन चिपड़, मांगीलाल, पर्वत पथिक विहार धाम कोषाध्यक्ष नेमीचन्द आदि की उपस्थित में कराया।

गुरुदेव मदन मुनि ने हाल ही में फतहनगर पावन धाम में चातुर्मास समापन करके खमनोर के सेमल में बड़ी दीक्षा करवाई थी। दीक्षा समारोह के बाद गुरुदेव की तबीयत खराब हो गई। जहां से उनको उदयपुर लेकर गए। जहां से अहमदाबाद रेफर कर दिया। जहां विगत कई दिनों से गुरुदेव की तबीयत स्थिर होने से उनको संथारा पचखाण किया गया।

खबरें और भी हैं...