चाची को कमरे में बंदकर चाचा का बेरहमी से कत्ल:भतीजे ने साथ में पी शराब, विवाद हुआ तो सरिये से पीट-पीटकर मार डाला

राजसमंद5 दिन पहले

चाची को कमरे में बंद कर एक भतीजे ने अपने ही चाचा को मार डाला। भतीजे ने रात में चाचा के साथ बैठकर शराब पी और किसी बात पर विवाद बढ़ा तो सरिये से पीट-पीटकर चाचा का मर्डर कर दिया। मामला राजसमंद के केलवाड़ा थाना क्षेत्र के आरेट का है।

चाचा को सरिये से इतना पीटा कि हाथ-पैर टूट गए
भतीजे ने चाचा को सरिये से इतना पीटा कि उसके हाथ-पैर टूट गए। इसके बाद उसने चाचा को लहूलुहान हालत में एक कमरे में बंद कर दिया। झगड़े के दौरान बीच-बचाव करने आई चाची को भी आरोपी ने दूसरे कमरे में बंद कर दिया। सुबह चाची के चिल्लाने पर पड़ोसियों ने दरवाजा खोला। ज्यादा खून बहने से चाचा की मौत हो चुकी थी। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है। कुंभलगढ़ डिप्टी एसपी नरेश कुमार शर्मा ने भी घटनास्थल का मुआयना किया।

मारने के बाद चाचा को भी दूसरे कमरे में बंद किया और भाग निकला
केलवाड़ा थाना प्रभारी प्रवीण टांक के मुताबिक, गवार पंचायत के आरेट की भागल में चाचा घीसा राम (50) और उसका सगा भतीजा किशन गमेती रात को एक साथ बैठकर शराब पी रहे थे। इस दौरान किसी बात को लेकर दोनों में विवाद हुआ तो नाराज होकर किशन ने घीसा राम को सरिये से मार-मार कर अधमरा कर दिया। घीसा राम के हाथ-पैर टूट गए और सिर में चोट आने से खून बहने लगा। चाची बीच-बचाव करने आई तो किशन ने उसको एक कमरे में बंद कर दिया। इसके बाद उसने घीसा राम को दूसरे कमरे में बंद कर दिया और भाग निकला।

पड़ोसियों ने सुनी महिला की चिल्लाने की आवाज तो खोला दरवाजा
थाना प्रभारी ने बताया कि पड़ोसियों ने सुबह महिला के चिल्लाने की आवाज सुनी तो दरवाजा खोला। ज्यादा खून बहने से घीसा राम की मौत हो चुकी है। सूचना पर केलवाड़ा पुलिस मौके पर पहुंची और मौका मुआयना किया। पुलिस ने शव को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया, जहां पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनों को सौंप दिया। घीसा राम की हत्या के मामले में आरोपी किशन भील की तलाश के लिए विशेष टीमों का गठन कर दिया है, जो अभी तक फरार चल रहा है।

खबरें और भी हैं...