पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आगरा का जोन्स मिल धमाका मामला:2596 करोड़ के घोटाले के 7 आरोपी भूमाफिया घोषित, अब माननीयों के ऊपर लग रहे आरोप

आगरा6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
विधायक पर उठ रहे सवाल, 7 आरोपियों पर कार्रवाई। - Dainik Bhaskar
विधायक पर उठ रहे सवाल, 7 आरोपियों पर कार्रवाई।
  • 19 जुलाई को थाना छत्ता इलाके के जोन्स मिल में बम धमाका हुआ था।
  • जांच में जमीन हथियाने के लिए घटना को अंजाम देने की पुष्टि हुई थी।
  • पुलिस ने रज्जो जैन, कंवलजीत सिंह और चुनमुन अग्रवाल को आरोपी बनाया था।
  • जांच में इस सरकारी जमीन पर कब्जा कर करीब 2596 करोड़ का घोटाला सामने आया था।

आगरा में शनिवार को जिलाधिकारी द्वारा बैठक के बाद जोन्स मिल धमाके और ढाई हजार करोड़ से अधिक के घोटाले के मुख्य तीनों आरोपियों समेत 7 लोगों को भूमाफिया घोषित करने के बाद क्षेत्रीय विधायक भी सवालों के घेरे में आ गए हैं। विधायक का ऑफिस भूमाफिया के अपार्टमेंट में होने के चलते जमकर किरकिरी हो रही है। हालांकि विधायक ने अपनी सफाई में अपार्टमेंट में 100 लोगों के ऑफिस होने और उनके द्वारा ऑन रिकार्ड किरायेदार होने की बात कही गई है।

19 जुलाई को जोन्स मिल में हुआ था विस्फोट
बीती 19 जुलाई को थाना छत्ता इलाके के जोन्स मिल में बम धमाका हुआ था। जांच में जमीन हथियाने के लिए घटना को अंजाम देने की पुष्टि हुई थी। पुलिस ने रज्जो जैन, कंवलजीत सिंह और चुनमुन अग्रवाल को आरोपी बनाया था। जांच में सामने आया था कि इस सरकारी जमीन पर कब्जा कर करीब 2596 करोड़ का घोटाला किया गया है। इसके बाद पुलिस की लचर कर्रवाई के चलते तीनों को जमानत मिल गयी थी। घटना के बाद से ही कंवलजीत के एक रिश्तेदार जो आगरा में विधायक हैं और स्थानीय विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल द्वारा पैरवी के आरोप लग रहे थे। बीती शाम प्रशासन द्वारा बैठक के बाद तीनों आरोपियों को मिलाकर कुल 7 लोगों को भूमाफिया घोषित किया गया था।

विधायक पर लगे यह आरोप

आगरा उत्तर विधानसभा क्षेत्र से विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए शनिवार को कुछ लोगों ने विधायक के ऑफिस की तस्वीरें भी वायरल कर दी। उनका ऑफिस भू-माफिया चुनमुन अग्रवाल के अपार्टमेंट में होने पर उनके ऊपर सवाल उठाने शुरू कर दिए गए।

विधायक ने दिया जवाब
विधायक पुरुषोत्तम खंडेलवाल ने कहा कि जो लोग इस तरह के सवाल उठा रहे हैं उनसे ही सावल पूछा जाना चाहिए। ऐसे लोगों के लिए मैं कुछ कहना और करना नहीं चाहता हूं और इनको जवाब देने का मेरे पास समय नहीं है। लेकिन इतना ज़रूर कहूंगा कि उस अपार्टमेंट में 100 लोग और हैं और मैं ऑन रिकार्ड यहां किरायेदार हूं।

अपार्टमेंट बनाने में है झोल
थाना छत्ता क्षेत्र में जिस मातंगी काम्प्लेक्स में विधायक का कार्यालय है, उस कॉम्प्लेक्स में पूरी मार्केट के लिए कहीं कोई पार्किंग व्यवस्था नहीं है। ऐसे में सवाल उठता है कि बिल्डिंग का नक्शा कैसे पास हो गया और अगर नहीं पास हुआ है तो विभाग अभी तक बिल्डिंग पर मेहरबान क्यों है। जबकि तीनों भू-माफिया पर गैंगेस्टर लगा चुकी है। उनकी संपत्ति जब्तीकरण के आदेश हैं। रज्जो जैन की 24 करोड़ की संपत्ति अभी प्रशासन ने कब्जा की है।

कंवलजीत के रिश्तेदार भी सवालों के घेरे में
जोन्स मिल प्रकरण का मुख्य आरोपी कंवलजीत एक विधायक का खास रिश्तेदार है। उसपर पोइव में चेक क्लोनिंग कर करोड़ों हड़पने का मुकदमा चल रहा है। वर्तमान में भी वो इतने बड़े घोटाले में लिप्त है पर प्रशासन द्वारा उसकी संपत्ति अभी तक जब्त नहीं की गयी है। लोग उन विधायक पर भी राजनैतिक दबाव बनाने का आरोप लगा रहे हैं।

इन लोगों को बनाया गया है भू-माफिया
एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद के अनुसार जो भी भूमाफिया घोषित हुए हैं। जिलाधिकारी के आदेश पर उनपर एफआईआर दर्ज करके उन्हें जेल भेजा जाएगा। इन सभी की संपत्ति की जांच भी होगी।

1- राजेंद्र जैन उर्फ रज्जो पुत्र चिम्मन लाल 2- सरदार कंवलदीप सिंह पुत्र त्रिलोचन निवासी 8/8 एडीए फ्लैट, संजय प्लेस 3- हेमेंद्र अग्रवाल उर्फ चुनमुन पुत्र देवेंद्र नाथ अग्रवाल निवासी मातंगी टावर थाना छत्ता

4- गुड्डू चाहर उर्फ जोगेंद्र सिंह पुत्र बाबूलाल निवासी बाग फरजाना।

5- संजय चाहर पुत्र बाबूलाल निवासी 4/19 बाग फरजाना।

6-सुरेश चाहर पुत्र बाबूलाल निवासी 4/19 बाग फरजाना

7- अशोक चाहर पुत्र बाबूलाल निवासी बाग फरजाना