आगरा में बिल्डर की धोखाधड़ी:एग्रीमेंट कर हड़पे 85 लाख रुपये, दूसरे को बेच दी जगह, पांच नामजद व एक अज्ञात पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज

आगरा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थाना हरीपर्वत में दर्ज हुआ बिल - Dainik Bhaskar
थाना हरीपर्वत में दर्ज हुआ बिल

आगरा के थाना हरीपर्वत में शनिवार को बिल्डरों द्वारा धोखाधड़ी कर 85 लाख रुपये लेने और जमीन दूसरे को बेचने के आरोप में धारा 420 समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है।

यह है पूरा प्रकरण

जानकारी के अनुसार, शमशाबाद रोड निवासी सुरेंद्र चौहान ने एसएसपी आगरा मुनिराज को शिकायत की थी कि गोविंद अग्रवाल निवासी सिकन्दरा,विकास जैन और अमित जैन निवासी थाना न्यू आगरा क्षेत्र उसके पास आए थे। उन्होंने लोहार गली क्षेत्र में जर्जर मकान को तोड़कर उसमें पांच दुकानें बनाने की बात कही। इसके लिए उन्होंने एग्रीमेंट किया। 60 लाख रुपये चेक के माध्यम से व 25 लाख नकद ले लिया। गोविंद अग्रवाल ने इसके बाद कूटरचित तरीके से संपत्ति को विकास जैन और अमित जैन को बेच दिया,जबकि एग्रीमेंट के हिसाब से उसे बेचने,किराए पर देने और एडवांस लेने का अधिकार मेरे पास है।इस काम मे उसकी पत्नी सुनीता,बेटे अंकुर ने उसका साथ दिया।

मांगने पर की पिटाई

पीड़ित सुरेंद्र के अनुसार जब उसे प्लाट बिकने की जानकारी हुई तो वो दिल्ली गेट स्थित विकास जैन की नवनिर्मित कोठी पर गवाहों के साथ पहुंचे। धोखाधड़ी के बारे में पूछने पर उन लोगों ने मारपीएत शुरू कर दी और धमकी दी कि जो करना हो कर लो न हम तुम्हें जगह देंगे और न ही पैसा वापस करेंगे। उनकी बेईमानी के चलते कानून का सहारा लेना पड़ा है।

जांच के बाद दर्ज हुआ मुकदमा

एसएसपी के आदेश के बिना 420 की धारा में मुकदमा नहीं दर्ज हो सकता है। एसएसपी आगरा मुनिराज के आदेश पर थाना हरीपर्वत पुलिस ने जांच की और जांच रिपोर्ट को देखकर उन्होंने मुकदमा दर्ज कराने के आदेश दिए।आज हरीपर्वत थाने में गोविंद अग्रवाल,अंकुर अग्रवाल,सुनीता अग्रवाल,विकास जैन, अमित जैन और एक अज्ञात के खिलाफ धारा 420, 467,468,471,406,323,504,506 और 120 बी के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। थाना प्रभारी अरविंद कुमार के अनुसार आरोपियों की तलाश की जा रही है।जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...