राष्ट्रगान मुल्क में मोहब्बत की निशानी, बोले मदरसा संचालक:आगरा में मुख्यमंत्री के फरमान के बाद मदरसों में गूंज उठा राष्ट्रगान, देशभक्ति का संचार

आगरा2 महीने पहले
आगरा के मदरसा मोइन उल इस्लाम में राष्ट्रगान के दौरान मौजूद अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष अशफाक सैफी एवं मदरसा संचालक जुबैर आलम।

योगी सरकार के फरमान के बाद मदरसों में राष्ट्रगान की गूंज सुनाई देने लगी है। आज सुबह आगरा के मदरसा मोइन उल इस्लाम में पहले राष्ट्रगान गाया गया और उसके बाद बच्चों की पढ़ाई शुरू हुई। मदरसों के बच्चों का उत्साह बढ़ाने एवं राष्ट्रगान में हिस्सा लेने के लिए अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष अशफाक सैफी भी पहुंचे। उन्होंने बच्चों के अंदर देशभक्ति के जज्बे का संचार किया। बता दें कि अत तक विभिन्न मौकों पर मदरसों में राष्ट्रगान होता रहा है। अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसे अनिवार्य कर दिया है। उसका असर यह हुआ कि आज मदरसों में पहले राष्ट्रगान गाया गया, उसके बाद पढ़ाई शुरू हुई। मदरसा संचालकों ने योगी सरकार के फरमान का स्वागत किया है। इस फैसले की सराहना करते हुए कहा है कि इसको बहुत पहले ही लागू हो जाना चाहिए थे। मदरसे के संचालक उजैर आलम ने कहा है कि यह तो मुल्क में मोहब्बत की निशानी है। हम अपने मदरसे में राष्ट्रगान का गायन कराते रहेंगे।

अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष ने बच्चों के साथ गाया राष्ट्रगान
अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष अशफाक सैफी का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फैसले का मुस्लिम समाज के सभी लोग स्वागत कर रहे हैं। इससे बच्चों में देशभक्ति का अलख जगेगा। उन्होंने मदरसे में बच्चों के साथ राष्ट्रगान भी गाया।

खबरें और भी हैं...