आगरा में इन चेहरों पर दांव खेल रही कांग्रेस:राज बब्बर के कई करीबियों को मिली टिकट, दो सीटों पर महिलाओं को उतारा

आगरा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आगरा की 9 विधानसभा सीटों में से अभी तक 7 सीटों पर कांग्रेसी प्रत्याशियों की घोषणा हुई है, जिनमें कांग्रेस ने 2 सीटों पर महिलाओं को उतारा है, जबकि पांच अन्य सीटों पर जातीय समीकरण को ध्यान में रखते हुए प्रत्याशी उतारे गए हैं।

बाह विधानसभा क्षेत्र से मनोज दीक्षित

बाह विधान सभा क्षेत्र से कांग्रेस की पूर्व जिला अध्यक्ष मनोज दीक्षित को चुनाव मैदान में उतारा गया है। उन्हें टोरेन्ट पावर रिश्वत प्रकरण में कांग्रेस ने निलंबित कर दिया था। इस बार वह निकाय चुनाव में बाह से निर्दलीय जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ी थीं। इससे पूर्व पिछले निकाय चुनाव में वह सपा के टिकट पर जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ी थी। दोनों ही बार वह चुनाव हार गईं थीं। उन्होंने काफी दिनों से कांग्रेस से दूरी बना ली थी। लेकिन पार्टी को बाह में उनसे ज्यादा सशक्त प्रत्याशी नहीं दिख रहा था और आखिर में ब्राह्मण मतदाताओं को साधने के लिए उन्हीं को टिकट दे दी।

एत्मादपुर विधानसभा क्षेत्र से शिवानी सिंह बघेल

एत्मादपुर विधान सभा क्षेत्र से कांग्रेस ने शिवानी सिंह बघेल को चुनाव मैदान में उतारा है। वह गांव धरेरा की ग्राम प्रधान हैं। उनकी कांग्रेस में सक्रियता नहीं रही और न किसी राजनीतिक पार्टी से जुड़ी हुई थीं। हालांकि उनके ससुर रिटायर फौजी हैं और उनका परिवार शुरू से ही कांग्रेसी विचारधारा का है। शिवानी बघेल का मायका पक्ष आगरा में ही देवरी रोड स्थित रामनगर में रहता है। उनके पास अभी कोई ख़ास डिग्री नहीं है, फ़िलहाल वो ग्रेजुएशन कर रही हैं। बता दें, इस सीट पर बघेल समाज की संख्या अधिक होने के कारण उन्हें पार्टी ने प्रत्याशी घोषित किया है।

दक्षिण व उत्तर विधानसभा क्षेत्र से अनुज शर्मा

आगरा दक्षिण सीट पर कांग्रेस ने अनुज शर्मा को प्रत्याशी घोषित किया है। वह यूथ कांग्रेस में काफी समय से सक्रिय हैं। एक बार वह नगर निकाय के चुनाव में कांग्रेस की टिकट पर पार्षद का चुनाव जीत चुके हैं। युवा वर्ग को साधने के लिए एवं दक्षिण सीट पर ब्राह्मण मतदाताओं की संख्या को देखते हुए उन्हें प्रत्याशी घोषित किया है। वहीं, उत्तर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस ने विनोद बंसल को पार्टी का प्रत्याशी घोषित किया है। इससे पूर्व नगर निकाय चुनाव में कांग्रेस की टिकट पर मेयर का चुनाव लड़ चुके हैं। वह कांग्रेस के व्यापार प्रकोष्ठ में प्रदेश स्तर के पदाधिकारी रहे हैं। आगरा उत्तर सीट पर वैश्यों की संख्या अधिक है। जाति समीकरण को देखते हुए कांग्रेस ने विनोद बंसल को मैदान में उतारा है।

उपेंद्र सिंह पर फिर खेला दांव

आगरा ग्रामीण सीट पर कांग्रेस ने एक बार फिर उपेंद्र सिंह पर दांव खेला है। उपेंद्र सिंह पिछले विधानसभा चुनावों में भी कांग्रेस की टिकट पर आगरा ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ चुके हैं। फिलहाल वह प्रदेश कार्यकारिणी में प्रदेश उपाध्यक्ष हैं। आगरा में कांग्रेस के जिला अध्यक्ष भी रह चुके हैं। वह अभिनेता राज बब्बर और पीएल पुनिया के काफी नजदीक हैं। वहीं, फतेहाबाद सीट से कांग्रेस ने होतम सिंह निषाद को चुनाव मैदान में उतारा है। वह राज बब्बर के साथ कांग्रेस में आए थे।

पिछले दिनों उन्होंने कांग्रेस फिशरमैन सम्मेलन का आयोजन भी किया था। फतेहाबाद सीट पर निषाद बहुसंख्यक हैं। जाति समीकरण को देखते हुए कांग्रेसी ने उन्हें टिकट दी है। खेरागढ़ विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस ने रामनाथ सिंह सिकरवार को चुनाव मैदान में उतारा है। उनकी मां जिला पंचायत सदस्य हैं। साथ ही रामनाथ सिंह सिकरवार विधानसभा स्तर पर किसानों का बड़ा संगठन चलाते हैं। वह रिटायर्ड फौजी हैं। उनकी छवि और स्थानीय स्तर पर उनकी पकड़ को देखते हुए कांग्रेस ने उन्हें प्रत्याशी घोषित किया है।

खबरें और भी हैं...