पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आगरा प्रशासन सवालों के घेरे में:मेडिकल एंड कार्डिएक सेंटर की डॉक्टर का वीडियो आया सामने, रोते हुए प्रशासन से मांगा सिलेंडर

आगरा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डॉक्टर तूलिका ने वीडियो प्रशासन के ग्रुप में पोस्ट कर मदद मांगी थी। - Dainik Bhaskar
डॉक्टर तूलिका ने वीडियो प्रशासन के ग्रुप में पोस्ट कर मदद मांगी थी।

ताजनगरी आगरा में पारस अस्पताल में मौत मॉक ड्रिल का मामला अभी शांत नहीं हुआ है। इस बीच आगरा मेडिकल एंड कार्डिएक सेंटर की संचालिका डॉक्टर तूलिका के दो वीडियो सामने आए हैं। डॉक्टर प्रशासन से हाथ जोड़ कर गुहार लगा रही है कि उसे आज आक्सीजन दे दी जाए और कल से वो अपना अस्पताल बंद कर देगी। वीडियो 25 अप्रैल का बताया जा रहा है। डॉक्टर तूलिका ने डॉक्टर-प्रशासन के ग्रुप में यह वीडियो पोस्ट कर मदद मांगी थी।

आगरा में प्रशासन सवालों के घेरे में है। जिस वक्त कोरोना पीक पर था, यहां लापरवाही की हदें पार की गई। पारस अस्पताल के मामले में जिलाधिकारी पीएन सिंह ने आक्सीजन की कमी न होने की बात कहते हुए 22 मौतों की बात को नकार चुके हैं। 22 मौतों की मॉक ड्रिल के खुलासे के बाद अस्पताल पर ताला लगा दिया गया। संचालक के खिलाफ महामारी एक्ट में मुकदमा दर्ज कर जांच का हवाला दे दिया है।

डॉक्टर तूलिका बोलीं- मांगे 50 सिलेंडर, 27 मिले

डॉक्टर तूलिका वीडियो में हाथ जोड़कर प्रशासन से अपील कर रही हैं कि उनके सेंटर पर ऑक्सीजन खत्म हो गई है और उन्होंने पुलिस को बुलाना शुरू कर दिया है। चार बजे से उनका व्यक्ति एडवान्स आक्सीजन प्लांट पर खड़ा है। उन्होंने 50 सिलेंडर मांगे थे, लेकिन 27 सिलेंडर से काम चलाया है। काफी कम उम्र के कई मरीज भर्ती हैं और उन्हें कुछ भी हो सकता है। आप प्लीज आज व्यवस्था करवा दीजिए। कल मरीजों को कहीं शिफ्ट करवा कर अपने सेंटर पर ताला लगा दूंगी पर आज मदद कर दी जाए।

प्रशासन के आदेश पर बना था ग्रुप

अप्रैल के अंत में आक्सीजन की कमी होने के दौरान प्रशासन ने आईएमए के डॉक्टर्स के साथ एक पैनल बनाया था और अस्पतालों को ऑक्सीजन सप्लाई की जा रही थी। इसके लिए डॉक्टर्स और प्रशासन के कुछ वरिष्ठ अधिकारियों का एक वाट्सअप ग्रुप बना था जिसमें 25 अप्रैल की रात को यह वीडियो पोस्ट किया गया था।

पारस स्टाफ पर दर्ज हुए हैं तीन मुकदमे

बुधवार देर रात एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद द्वारा अस्पताल स्टाफ द्वारा मारपीट के मामले में संज्ञान लिया गया और उनके निर्देश पर आगरा पुलिस ने अपनी तरफ से बलवे की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है और दो अन्य लोगों की तहरीर पर भी मुकदमा दर्ज किया गया है।

खबरें और भी हैं...