• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • Active Cases Were 2699 In Agra While 10 Patients Including One Year Old Child Were Admitted To The Hospital, Two Patients Were Discharged

आगरा में 24 घंटे में कोरोना के 645 नए मरीज:एक्टिव केस हुए 2699, एक साल के बच्चे सहित 10 मरीज हॉस्पिटल में भर्ती

आगरा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

आगरा में कोरोना की तीसरी लहर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। गुरुवार को 24 घंटे में 645 नए कोरोना मरीज मिले हैं। अब आगरा में कोरोना के एक्टिव केस की संख्या 2699 हो गई है। अभी कोविड हॉस्पिटल में 10 मरीजों का इलाज चल रहा है।

आगरा में कोरोना की तीसरी लहर में संक्रमण की दर हर दिन बढ़ती जा रही है। गुरुवार को जारी रिपोर्ट में स्वास्थ्य विभाग ने 5090 लोगों के कोविड जांच के लिए सैंपल लिए, जिसमें 645 लोग पॉजिटिव मिले हैं। सैंपल पॉजिटिवी रेट 1.27 हो गई है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि कोरोना संक्रमण की दर कितनी तेजी से बढ़ रही है।

वहीं, एसएन मेडिकल कॉलेज के कोविड हॉस्पिटल में 10 मरीज भर्ती हैं। गुरुवार को दो नए मरीज भर्ती हुए, तो वहीं दो मरीज डिस्चार्ज भी हुए हैं। नए मरीज में एक साल का बच्चा भी शामिल है। उसे एहतियातन भर्ती किया गया है। किसी भी मरीज की हालत गंभीर नहीं है।

लक्षणों को नजरअंदाज न करें

डॉक्टर गजेंद्र विक्रम सिंह ने बताया कि तीसरी लहर में अधिकांश मरीज को कम लक्षण दिख रहे हैं या फिर लक्षण नहीं आ रहे हैं। ऐसे में जिन लोगों को कम लक्षण हैं, वो लापरवाही न बरतें। अगर लक्षण दिखते हैं, तो सबसे पहले अपने आप को आइसोलेट करें। टेस्ट पॉजिटिव आने पर घबराए नहीं। घर में इलाज के दौरान हर चार घंटे में बुखार, ऑक्सीजन लेवल देखते रहें।

अगर बुखार लगातार तीन दिन 101 डिग्री रहता है। इसके अलावा आक्सीजन लेवल 94 से कम होता, सांस लेने में तकलीफ महसूस होती है या रेस्पेरेटरी रेट एक मिनट में 24 से ज्यादा हो तो अपने डॉक्टर से बात करें। इन लक्षणों के आने पर लापरवाही न बरतें।

जो लोग पहले से हृदय रोग, श्वांस रोग या डायबिटीज से ग्रसित हैं, उनको कोरोना होने पर दिक्कत हो सकती है। ऐसे में इन लोगों को विशेष एहतियात बरतने की जरूरत है। संक्रमित होने पर ऐसे लोगों के हॉस्पिटल में भर्ती होने के आशंका अधिक है। ऐसे लोग डॉक्टर की सलाह के बाद ही होम आइसोलेशन में इलाज कराएं।

खबरें और भी हैं...