आगरा...मंडी शुल्क के विरोध में बंद रहा थोक बाजार:मोतीगंज और नवीन गल्ला मंडी में दुकानों पर लटके रहे ताले, व्यापारियों ने जताया विरोध

आगरा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मोतीगंज बाजार में दुकानें बंद रहीं। - Dainik Bhaskar
मोतीगंज बाजार में दुकानें बंद रहीं।

आगरा को थोक खाद्यान्न बाजार और गल्ला मंडी शुक्रवार को मंडी शुल्क के विरोध में बंद रही। व्यापारियों ने दुकानें बंद रख विरोध जताया। व्यापारियों ने कहाकि मंडी शुल्क से इंस्पेक्टर राज कायम होगा और व्यापारियों का शोषण होगा।

उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के आह्वान पर शुक्रवार को थोक खाद्यान्न बाजार मोती गंज, नवीन गल्ला मंडी सरकार द्वारा लगाए गए मंडी शुल्क के विरोध में पूरी तरह से बंद रही। मोतीगंज में व्यापारियों ने बेरिकेडिंग कर बाजार बंद के बैनर लटकाए हुए थे। सभी व्यापारी विरोध प्रकट करने के लिए अपने प्रतिष्ठान बंद कर बाहर बैठे रहे। बाजार में दिनभर सन्नाटा पसरा रहा। मोतीगंज बाजार समिति के अध्यक्ष रमनलाल गोयल ने बताया कि मंडी शुल्क से इंस्पेक्टर राज बढे़गा। व्यापारियों का शोषण और उत्पीड़न बढे़गा। सरकार को इसे वापस लेना चाहिए। पहले ही कोरोना काल में व्यापारी मुश्किल झेल रहे हैं। इसके बाद भी सरकार व्यापारियों की परेशानी को समझने के बजाए उन पर मंडी शुल्क देने का दवाब बना रही है।

नवीन गल्ला मंडी में मंडी शुल्क के विरोध में एकत्रित व्यापारी।
नवीन गल्ला मंडी में मंडी शुल्क के विरोध में एकत्रित व्यापारी।

नवीन गल्ला मंडी रही बंद
मोतीगंज बाजार के अलावा नवीन गल्ला मंडी भी बंद रही। गल्ला व्यापारियों ने मंडी का गेट बंद कर प्रदर्शन किया। आगरा व्यापार समिति के अध्यक्ष जयप्रकाश अग्रवाल के नेतृत्व में मंडी सचिव को ज्ञापन दिया। गल्ला व्यापारियों ने कहाकि सरकार को मंडी शुल्क वापस लेकर व्यापारियों को राहत देनी चाहिए। मंडी शुल्क के विरोध में आगरा दाल मिल एसोसिएशन ने भी अपना समर्थन दिया।

खबरें और भी हैं...