• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • Death Occurred During Late Night Treatment, In The Accident, Soldier Pawan Had Died On The Spot, Aligarh's Police Team Had An Accident On Tuesday Night

मुरैना हादसे में आगरा के एक और सिपाही की मौत:देर रात उपचार के दौरान हुई मौत, हादसे में सिपाही पवन की पहले हो गई थी मौके पर मौत, अलीगढ़ की पुलिस टीम का मंगलवार रात हुआ था एक्सीडेंट

आगरा:9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मुरैना हादसे में जान गंवाने वाले सिपाही रामकुमार व पवन की फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
मुरैना हादसे में जान गंवाने वाले सिपाही रामकुमार व पवन की फाइल फोटो

मुरैना में दबिश देने गए अलीगढ़ पुलिस की टीम हादसे का शिकार हो गई थी। इस हादसे में बुधवार देर रात आगरा गंभीर रूप से घायल सिपाही रामकुमार की मौत हो गई। हादसे में आगरा के दो सिपाही सहित पांच लोगों की मौत हो गई है। रामवीर की मौत के बाद अछनेरा के गांव नागर में कोहराम मचा हुआ है।

मंगलवार देर रात हुआ था हादसा
अलीगढ़ के इगलास थाने की पुलिस टीम दबिश के लिए मंगलवार रात को मुरैना जा रही थी। आगरा से आगे मुरैना के पास बानमोर के पर पुलिस की गाड़ी ट्रक से टकरा गई थी। इसमें सब इंस्पेक्टर व चालक सहेत चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि सिपाही रामकुमार गंभीर रूप से घायल हो गए थे। मृतकों में आगरा के कागौराल निवासी सिपाही पवन कुमार भी शामिल थे। सिपाही रामकुमार अछनेरा के नागर गांव निवासी से थे। रामकुमार के गंभीर रूप से घायल होने की सूचना पर उनके परिजन उन्हें उपचार के लिए आगरा ले आए थे। बुधवार देर रात रामकुमार ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।

पुलिस लाइन में मृतक सिपाही पवन कुमार की अर्थी को कंधा देते एडीजी राजीव कृष्ण और आइजी नवीन कुमार।
पुलिस लाइन में मृतक सिपाही पवन कुमार की अर्थी को कंधा देते एडीजी राजीव कृष्ण और आइजी नवीन कुमार।

चार अक्टूबर को ही वापस गए थे रामवीर
रामवीर की मौत के बाद गांव नागर में मातम पसरा है। परिजनों को रो-रोकर बुरा हाल है। घरवालों ने बताया कि रामवीर चार अक्टूबर को ही वापस ड्यूटी पर गए थे। रामकुमार का पांच माह का बेटा कृष्णा बीमार हो गया था, इसलिए वो पांच दिन की छुट्‌टी पर आए थे। बेटे के इलाज के लिए रामकुमार ने बहुत भागदौड़ की थी। मंगलवार को रामकुमार ने अपनी पत्नी से फोन पर बात की थी और बेटे की तबियत के बारे में पूछा था। रामकुमार 2015 बैच के सिपाही थे। उनके पिता राजवीर सिंह एसएन मेडिकल कॉलेज में नौकरी करते हैं। दो भाइयों में रामकुमार बडे़ थे। रामकुमार की शादी नौ साल पहले हुई है। उनके तीन बच्चों में सात साल की बेटी प्राची, चार साल की बेटी पररी व पांच माह का बेटा कृष्णा है।

पवन कुमार का हुआ अंतिम संस्कार
मुरैना हादसे में जान गंवाने वाले कागारौल के गांव नगला बल्देव खेडिया निवासी सिपाही पवन कुमार का बुधवार रात को अंतिम संस्कार किया गया। इससे पहले उनका शव मंगलवार शाम को पुलिस लाइन आगरा में लाया गया। वहां पर एडीजी राजीव कृष्ण, आइजी नवीन अरोरा सहित अन्य पुलिस अधिकारियों ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद शव को कंधा देकर अंतिम विदाई दी। देर रात गांव में पवन का अंतिम संस्कार किया गया।

खबरें और भी हैं...