• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • CM Yogi Adityanath Said There Was A Shortage Of Oxygen In The Second Wave, Said From The Stage In Front Of The National President In The Doctors' Conference

सीएम ने माना... दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी थी:आगरा में सीएम योगी बोले- दूसरी लहर में ऑक्सीजन की किल्लत हुई, ये सबने देखा; आज यूपी के हर जिले में ऑक्सीजन प्लांट लग रहा

आगरा6 महीने पहले
सीएम योगी ने आगरा में डॉक्टरों के सम्मेलन को संबोधित किया।

केंद्र सरकार की रिपोर्ट में ऑक्सीजन की कमी से देश में एक भी मौत न होने की बात कही गई है। हालांकि, आगरा में डॉक्टर्स और कोरोना वॉरियर्स के सम्मेलन को संबोधित करते हुए रविवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वीकार किया कि कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी हुई थी।

उन्होंने कहा कि दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी हुई। लेकिन भारत सरकार ने युद्ध स्तर पर हर जिले में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम किया। आज यूपी के हर जिले में ऑक्सीजन प्लांट लग रहा है। 552 प्लांट को स्वीकृत किया गया है और इसमें 200 से ज्यादा लग चुके हैं।

19 मिनट तक दिया भाषण
सीएम योगी ने सम्मेलन में 19 मिनट तक भाषण दिया। इस दौरान ऑक्सीजन की कमी का जिक्र किया। बोले, 'दूसरी लहर में ऑक्सीजन की किल्लत हुई। महामारी के दौरान संसाधन अक्सर कम पड़ते हैं। और यह तो इस सदी की सबसे बड़ी महामारी थी। इस महामारी के दौरान हमने ऑक्सीजन के बारे में देखा होगा। ऑक्सीजन पहुंचाने का काम भारत सरकार ने युद्धस्तर पर किया, वो सबके सामने हैं। उत्तर प्रदेश में हर जनपद को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में काम हो रहा है। 552 ऑक्सीजन प्लांट अलग-अलग जनपदों में लगाए जा रहे हैं। इसमें आगरा भी शामिल है।'

आगरा में 26 अप्रैल को ऑक्सीजन हटाने से हुई थी 22 मौतें
एक तरफ भले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऑक्सीजन की कमी को स्वीकार किया है, लेकिन आगरा के श्रीपारस हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों पर प्रशासन ने हर तरह से पर्दा डालने की कोशिश की है। बता दें कि इस हॉस्पिटल के संचालक डा. अरिंजय जैन का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसमें वो कोरोना की दूसरी लहर के बीच 26 अप्रैल के मंजर को बता रहे थे।

वीडियो में वो कहते दिख रहे हैं कि कैसे ऑक्सीजन के संकट में उन्होंने ऑक्सीजन बंद कर मरीजों पर मॉकड्रिल किया था। 96 मरीजों में से 22 मरीज नीले पड़ गए थे और उनकी छंटनी हो गई थी। इस वीडियो के सामने आने के बाद जिन मरीजों की ऑक्सीजन की कमी के चलते मौत हुई थी, उनके परिजनों ने हंगामा किया था। मगर, प्रशासन ने इस मामले में श्री पारस हॉस्पिटल को क्लीन चिट दे दी। प्रशासन ने हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी न होने की बात कही थी।

खबरें और भी हैं...