• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • Death In Police Custody On Tuesday Night, Was Arrested While Roaming In Tajganj Area After Getting Shaved, Force Deployed Due To Apprehension Of Ruckus

प्रियंका मृतक सफाईकर्मी के परिवार से मिलीं:बोलीं- यूपी में न्याय का कोई नामोनिशान नहीं, लॉ एंड ऑर्डर हाथ से बाहर

आगराएक महीने पहले
प्रियंका गांधी मृतक सफाईकर्मी के परिवार से मिलीं।

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले राजनीति गर्म हो गई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को 17 दिनों के भीतर दूसरी बार पुलिस ने हिरासत में ले लिया। ताजा मामला आगरा में पुलिस कस्टडी में मृत सफाई कर्मी अरुण वाल्मीकि की मौत का है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पीड़ित परिजनों से मिलने के लिए आगरा जा रही थीं, लेकिन आगरा एक्सप्रेस-वे पर टोल प्लाजा पर उन्हें रोक लिया गया। लखनऊ पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। हालांकि, हिरासत के ढाई घंटे बाद प्रियंका को आगरा जाने की परमिशन मिली। रात करीब 10 बजकर 45 मिनट पर प्रियंका मृतक सफाई कर्मी अरुण वाल्मीकि के पीड़ित परिवार से मिलने उनके घर पहुंचीं।

इस दौरान मृतक की मां ने दर्दनाक मंजर के बारे में बताते हुए कहा कि पूरे परिवार पर बर्बर टॉर्चर किया गया। अरुण को बिजली का करंट लगाया गया। पुलिस वाले अरुण के हाथों को कुर्सी के पायों से दबाकर कुर्सी पर बैठे थे। तकरीबन 40 के आसपास वल्मिकियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर टॉर्चर किया।

यूपी में भयावह स्थिति, लॉ एंड ऑर्डर हाथ से बाहर: प्रियंका
प्रियंका ने मीडिया से मुखातिब हुईं। इस दौरान उन्होंने कहा कि दो सालों से मैं यहां काम कर रही हूं, एक के बाद एक मैंने यही देखा है कि यूपी में गरीबों, दलितों, किसानों, महिलाओं के लिए न्याय का कोई नामोनिशान नहीं है। बस सब बड़ी-बड़ी बातें व घोषणाएं ही हैं। उन्होंने यह भी कहा कि यूपी में भयावह स्थिति है। लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति हाथ से बाहर है। इस दौरान प्रियंका ने कुशीनगर में 10 करोड़ के हवाईअड्डे के उद्घाटन पर प्रियंका ने सवाल उठाए।

रात करीब 10 बजकर 45 मिनट पर प्रियंका मृतक सफाई कर्मी अरुण वाल्मीकि के पीड़ित परिवार से मिलने उनके घर पहुंचीं।
रात करीब 10 बजकर 45 मिनट पर प्रियंका मृतक सफाई कर्मी अरुण वाल्मीकि के पीड़ित परिवार से मिलने उनके घर पहुंचीं।

प्रियंका गांधी से पहले आप सांसद संजय सिंह पहुंचे
इससे पहले आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह मृतक के परिवार से मिलने पहुंचे। यहां उन्होंने कहा कि प्रदेश में योगी सरकार मारो और मुआवजा दो की नीति पर काम कर रही है। उन्होंने मृतक के परिवार को एक करोड़ का मुआवजा, सरकारी नौकरी और इस पूरे प्रकरण की न्यायिक जांच की मांग की है। संजय सिंह ने कहा कि अरुण की पुलिस प्रताड़ना के चलते मौत हुई है।

सांसद संजय सिंह मृतक सफाई कर्मी अरुण वाल्मीकि के घर पहुंचे। मृतक के परिवार से की मुलाकात।
सांसद संजय सिंह मृतक सफाई कर्मी अरुण वाल्मीकि के घर पहुंचे। मृतक के परिवार से की मुलाकात।

प्रियंका बोलीं- मेरे साथ तस्वीर लेना गुनाह है तो सजा भी मुझे मिले
वहीं, सेल्फी लेने वाली महिला पुलिस कर्मियों पर जांच की बात उठते ही सोशल मीडिया पर प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया। उन्होंने कहा कि खबर आ रही है कि इस तस्वीर से योगी जी इतने व्यथित हो गए कि इन महिला पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही करना चाहते हैं। अगर मेरे साथ तस्वीर लेना गुनाह है तो इसकी सजा भी मुझे मिले, इन कर्मठ और निष्ठावान पुलिसकर्मियों का कैरियर खराब करना सरकार को शोभा नहीं देता।

प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट।
प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट।

प्रियंका ने फ्लीट रुकवाकर जख्मी युवती का किया फर्स्ट एड
प्रियंका गांधी पीड़ित से मिलने के लिए आगरा रवाना हुईं। इस दौरान लखनऊ स्थित 1090 चौराहे पर एक युवती के एक्सीडेंट की उन्हें सूचना मिली। ऐसे में प्रियंका ने अपनी फ्लीट रुकवाई और फर्स्ट एड किट मंगाकर युवती के घाव को साफ किया। खुद ही पट्टी भी बांधी और अपना नंबर दिया। इसके बाद युवती को अस्पताल भिजवाया।

प्रियंका ने अपनी फ्लीट रुकवाई और फर्स्ट एड किट मंगाकर युवती के घाव को साफ किया।
प्रियंका ने अपनी फ्लीट रुकवाई और फर्स्ट एड किट मंगाकर युवती के घाव को साफ किया।

सेल्फी लेने वाली पुलिसकर्मियों की होगी जांच
प्रियंका गांधी के साथ ड्यूटी के दौरान सेल्फी लेने वाली महिला पुलिसकर्मियों के खिलाफ अनुशासनहीनता की शिकायत मिलने के बाद पुलिस कमिश्नर DK ठाकुर ने दिए जांच के आदेश दिए हैं। DCP सेंट्रल ख्याति गर्ग करेंगी मामले की जांच करेंगी।

सरकारी नौकरी व 10 लाख का मुआवजा

उधर, प्रदेश सरकार ने मृतक की पत्नी को सरकारी नौकरी व 10 लाख का मुआवजा पीड़ित परिवार को देने का आश्वासन दिया है। इससे पहले 3 अक्टूबर को भी लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में पीड़ित परिवार से मुलाकात करने की कोशिश के दौरान भी पुलिस ने प्रियंका को करीब 30 घंटे हिरासत में रखने के बाद गिरफ्तार किया था। हालांकि उसी दिन उन्हें रिहा कर दिया गया था।

5 पुलिस वाले सस्पेंड,
सफाई कर्मी अरुण वाल्मीकि से पूछताछ में शामिल 5 पुलिसकर्मियों को SSP मुनिराज ने सस्पेंड कर दिया है। इनके नाम इंस्पेक्टर आनंद शाही, एसआई योगेंद्र, सिपाही सत्यम, महेंद्र और रूपेश हैं।

नाराज प्रियंका बोलीं- क्या रेस्टोरेंट में बैठ जाऊं
पुलिस की कार्रवाई पर प्रियंका ने कहा कि किसी की मौत पर उनके घर के परिजनों से मुलाकात करने दिए जाने से लॉ एंड ऑर्डर कैसे बिगड़ सकता है? आप लोगों को खुश करने के लिए क्या मैं लखनऊ के गेस्ट हाउस में आराम से बैठी रहूं। किसी को पुलिस कस्टडी में पीट-पीटकर मार देना कहां का न्याय है? प्रियंका ने कहा कि जहां जाती हूं वहीं रोक देते हैं, क्या रेस्टोरेंट में बैठ जाऊं।

पुलिस बोली-आगरा में धारा 144 लागू
पुलिस की कार्रवाई पर इस दौरान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू से धक्का-मुक्की और झड़प भी हुई। ADCP सेंट्रल राजेश श्रीवास्तव ने लखनऊ और आगरा में धारा 144 लागू होने का हवाला दिया। कहा कि वहां जाने से लॉ एंड ऑर्डर बिगड़ सकता है।

प्रियंका गांधी के काफिले को आगरा एक्सप्रेस-वे पर चढ़ने से पुलिस ने रोक दिया।
प्रियंका गांधी के काफिले को आगरा एक्सप्रेस-वे पर चढ़ने से पुलिस ने रोक दिया।
लखनऊ में पुलिस ने प्रियंका गांधी को रोका।
लखनऊ में पुलिस ने प्रियंका गांधी को रोका।

25 लाख की चोरी के शक में पकड़ा गया था सफाईकर्मी
रविवार की सुबह थाना जगदीश पूरा के दीवान प्रताप भान सिंह थाने के बाहर चाय पीने गए थे। जब वह वापस आए तो उन्हें वहां कुछ अनहोनी की आशंका हुई। जांच करने पर मालखाने से चार दिन पहले रेलवे ठेकेदार के घर चोरी के खुलासे में बरामद 25 लाख रुपए गायब होने की जानकारी मिली।

इस मामले में सीओ लोहामंडी सौरभ सिंह की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कराया गया था और एडीजी ने लापरवाही के आरोप में थाना प्रभारी अनूप कुमार तिवारी, दीवान प्रताप भान सिंह और एक दरोगा समेत छह पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था।

पुलिस को सफाईकर्मी पर था शक
जिस तरह से थाने में चोरी हुई थी, उससे थाने में रोज आने वालों पर शक किया जा रहा था। 20 से अधिक लोगों से पूछताछ के बाद सफाईकर्मी लोहामंडी निवासी अरुण पर पुलिस का शक गहराया। वह वारदात के बाद से थाने नहीं आ रहा था। वह थाने में सफाई करने आता था।

पुलिस ने उसके घर दबिश दी तो घर पर 15 लाख रुपए मिले थे। परिजन पैसे के बारे में जानकारी नहीं दे पा रहे थे। पुलिस ने उसके दोनों भाइयों को थाने पर बिठा लिया था। आरोपी सफाईकर्मी की मंगलवार रात पुलिस कस्टडी में मौत हो गई। सफाई कर्मचारी को मंगलवार शाम पुलिस ने हिरासत में लिया था।

सफाईकर्मी की मौत के बाद बवाल की आशंका के चलते थाना जगदीशपुरा को छावनी बना दिया गया है। इस प्रकरण में अज्ञात पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया है। पोस्टमॉर्टम हाउस पर परिजनों ने हंगामा किया।

अखिलेश ने सरकार को घेरा
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने सोशल मीडिया पर सवाल उठाते हुए लिखा कि भाजपा सरकार में पुलिस खुद अपराध कर रही है तो फिर अपराध कैसे रुकेगा? आगरा में पहले साठगांठ कर थाने के मालखाने से 25 लाख की चोरी कराई गई। फिर सच छिपाने के लिए गिरफ्तार किए गए सफाईकर्मी की कस्टडी में हत्या स्तब्ध करती है। हत्यारे पुलिस कर्मियों पर सख्त कार्रवाई हो।

मायावती ने भी साधा निशाना

सफाईकर्मी की मौत के बाद मौके फोर्स को तैनात किया गया है।
सफाईकर्मी की मौत के बाद मौके फोर्स को तैनात किया गया है।

मुंडन करवा कर बदला था भेष
सफाईकर्मी का भाई पुलिस टीम के साथ उसे संभावित जगहों पर तलाश कर रहा था। मंगलवार को ताजगंज वाल्मीकि बस्ती में आरोपी के होने की सूचना आई थी। इसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। इस दौरान स्थानीय लोगों ने उसका वीडियो बना लिया। वीडियो से ऐसा लगता है कि अरुण ने भेष बदलने के लिए बाल मुंडवा लिए थे। बाद में देर रात पुलिस कस्टडी में उसकी मौत हो गई।

पुलिस ने उसके शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है। वहीं, बवाल की आशंका को देखते हुए जगदीशपुरा थाने पर फोर्स तैनात कर दिया गया है। दूसरे जिलों से भी पुलिसकर्मियों को बुलाया गया है।

यह फोटो उस वक्त की जब आरोपी को पकड़ा गया था।
यह फोटो उस वक्त की जब आरोपी को पकड़ा गया था।

अज्ञात पर हत्या का केस, 5 पुलिसकर्मी सस्पेंड
एसएसपी मुनिराज के अनुसार पूछताछ के दौरान उसने चोरी की वारदात कबूल की थी। उसके पास से 15 लाख रुपए भी बरामद हुए। अचानक उसकी तबीयत खराब हुई। परिजनों के साथ पुलिस उसे एसएन मेडिकल कालेज ले गई, जहां उसकी मौत हो गई।

एसएसपी ने बताया कि एक इंस्पेक्टर, एक दरोगा और तीन सिपाही सस्पेंड किए गए हैं। पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी होगी। मानवाधिकार आयोग की गाइडलाइन के तहत जांच होगी।

कांग्रेसियों से लोगों की झड़प
पोस्टमार्टम हाउस के बाहर मृतक अरुण के परिवार के लोगों से मिलने पहुंचे कांग्रेसियों से वाल्मीकि समाज के लोगों की झड़प हुई है। कांग्रेसियों को धक्के देकर जाने को कहा गया। राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य कमल वाल्मीकि ने कहा कुछ अराजक तत्व माहौल खराब करना चाहते हैं। एफआईआर दर्ज हो चुकी है। एक करोड़ का मुआवजा और सरकारी नौकरी की मांग की गई है।