आगरा में हाईकोर्ट बैंच स्थापना की मांग:अधिवक्ताओं ने जेवर में प्रधानमंत्री की रैली में लगाए वी वांट हाईकोर्ट के नारे, लहराया बैनर

आगरा:2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आगरा में हाईकोर्ट बैंच स्थापना की मांग लेकर जेवर में कार्यक्रम स्थल पर बैनर लहराते अधिवक्ता। - Dainik Bhaskar
आगरा में हाईकोर्ट बैंच स्थापना की मांग लेकर जेवर में कार्यक्रम स्थल पर बैनर लहराते अधिवक्ता।

आगरा में हाईकोर्ट बैंच स्थापना की मांग को लेकर आगरा और आसपास के 10 जिलों के अधिवक्ताओं का आंदोलन तेज होता जा रहा है। केंद्रीय विधि मंत्री को ज्ञापन देने के बाद खंडपीठ स्थापना संघर्ष समिति के साथ बड़ी संख्या में आगरा मंडल के अधिवक्ता गुरूवार को जेवर पहुंचे। अधिवक्ताओं ने कार्यक्रम स्थल पर वी वांट हाईकोर्ट के नारे लगाए और बैनर लहराया। वहीं, अधिवक्ता आज न्यायिक कार्य से विरत भी रहे।

खंडपीठ स्थापना संघर्ष समिति के साथ बड़ी संख्या में आगरा मंडल के अधिवक्ता गुरूवार को जेवर पहुंचे।
खंडपीठ स्थापना संघर्ष समिति के साथ बड़ी संख्या में आगरा मंडल के अधिवक्ता गुरूवार को जेवर पहुंचे।

पुलिस को चकमा देकर पहुंचे रैली स्थल
आगरा में हाईकोर्ट बैंच की स्थापना की मांग को लेकर अधिवक्ता लंबे समय से आंदोलनरत हैं। पिछले दिनों उच्च न्यायालय खंडपीठ स्थापना संघर्ष समिति ने आगरा आए केंद्रीय विधि मंत्री किरण रिजिजू को ज्ञापन दिया था। इसके बाद संघर्ष समिति ने 25 नवंबर को जेवर में जेवर एयरपोर्ट के शिलान्यास को आ रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ज्ञापन देने की रणनीति बनाई थी। संघर्ष समिति के सचिव हेमंत भारद्वाज ने बताया कि आगरा-अलीगढ़ मंडल से 600 से ज्यादा अधिवक्ता गुरुवार सुबह आठ बजे जेवर के लिए गए थे। फिरोजाबाद में पुलिस ने कुछ अधिवक्ताओं को रोक लिया था। वहीं, संघर्ष समिति के मीडिया प्रभारी अधर शर्मा ने बताया कि पुलिस नाकाबंदी के बाद भी अधिवक्ता जेवर में कार्यक्रम स्थल तक पहुंच गए। पुलिस ने अधिवक्ता अजय सिंह व दुर्गविजय सिंह काे गेट पर रोक लिया। प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान अधिवक्ताओं ने आगरा में खंडपीठ स्थापना की मांग के नारे लगाए और बैनर लहराया। पुलिस कर्मियों ने उन्हें रोकने का प्रयास किया, लेकिन अधिवक्ता अपनी मांग को लेकर नारे लगाते रहे। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने उन्हें समझा कर ज्ञापन देने के लिए राजी किया। अधिवक्ता हेमंत भारद्वाज और वीरेंद्र फौजदार, प्रमोद शर्मा, रामप्रकाश शर्मा आदि अधिवक्ताओं ने ज्ञापन दिया।

जेवर में प्रधानमंत्री की रैली स्थल पर प्रदर्शन करते अधिवक्ता।
जेवर में प्रधानमंत्री की रैली स्थल पर प्रदर्शन करते अधिवक्ता।

मेरठ मंडल के अधिवक्ता से मिलेंगे केंद्रीय विधि मंत्री
हाईकोर्ट बैंच की मांग को लेकर मेरठ के अधिवक्ता भी आंदोलनरत हैं। वो मेरठ में बैंच स्थापना की मांग कर रहे हैं। मेरठ और आसपास के जिलों के प्रतिनिधिमंडल को केंद्रीय विधि एवं न्याय मंत्री किरण रिजिजू की ओर से मुलाकात के लिए 27 नवंबर को बुलाया गया है। इस मुलाकात पर अब पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अधिवक्ताओं की नजर है।

जेवर में प्रधानमंत्री के कार्यक्रम स्थल के बाहर धरना देते अधिवक्ता।
जेवर में प्रधानमंत्री के कार्यक्रम स्थल के बाहर धरना देते अधिवक्ता।

1956 से उठ रही आगरा में हाईकोर्ट बैंच की मांग
आगरा में हाईकोर्ट बैंच की स्थापना को लेकर अधिवक्ता लंबे समय से आंदोलन कर रहे हैं। आगरा में यह आंदोलन 1956 से चल रहा है। नेशनल कांफ्रेंस लॉयर्स ने खंडपीठ स्थापना की मांग उठाई थी। वरिष्ठ अधिवक्ता पीयूष शर्मा ने बताया कि इसको लेकर अधिवक्ताओं ने दिल्ली तक मार्च निकाला था। इंदिरा गांधी सरकार में 1981 को जसवंत आयोग का गठन किया गया था। आयोग ने 1985 में अपनी संस्तुति आगरा के पक्ष में देते हुए रिपोर्ट केंद्र सरकार को दी थी। तब से लेकर आज तक हाईकोर्ट खंडपीठ की मांग पूरी नहीं हो सकी है। अधिवक्ता इस रिपोर्ट का हवाला देकर ही खंडपीठ की मांग कर रहे हैं। 26 सितंबर 2001 में खंडपीठ की मांग कर रहे अधिवक्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। इसमें बड़ी संख्या में अधिवक्ता घायल हुए थे।

खबरें और भी हैं...