• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • Director And Chief Proctor Of IET Resigned From The Post, Tahrir Against The Accused In The Evening, Agreement Was Reached At Night

मारपीट में बीच-बचाव कराने वाले शिक्षकों को धमकी:आगरा में आईईटी के निदेशक व चीफ प्रॉक्टर ने दिया इस्तीफा, आरोपियों के खिलाफ शाम को तहरीर

आगरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विश्वविद्यालय के खंदारी कैंपस में बुधवार को छात्रों के बीच मारपीट हो गई थी। - Dainik Bhaskar
विश्वविद्यालय के खंदारी कैंपस में बुधवार को छात्रों के बीच मारपीट हो गई थी।

डा. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय कें खंदारी कैंपस में छात्रों के बीच हुए विवाद के बाद गुरुवार को आरोपियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर आईईटी के छात्रों ने हंगामा किया। आईईटी के निदेशक वीके सारस्वत और चीफ प्रॉक्टर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। विश्वविद्यालय में बिगड़ते माहौल के चलते दोनों के इस्तीफा देने की बात सामने आई है। आरोप है कि छात्र नेताओं ने दोनों को धमकाया था और उन पर उल्टा मुकदमा दर्ज कराने की धमकी थी दी।

आईईटी के डायरेक्टर ने दिया इस्तीफा

बुधवार को खंदारी कैंपस में दो छात्राओं के बीच विवाद के बाद छात्रों के दो गुट में जमकर मारपीट हुई थी। शिक्षकों के पहुंचने पर आईईटी के छात्राओं को पीटने वाले कुछ लड़के सांसद रामशंकर कठेरिया घर में घुस गए थे। कुछ छात्र भाग गए थे। आईईटी के निदेशक प्रो. वीके सारस्वत अपने छात्रों के पक्ष में खड़े थे।

निदेशक का कहना है कि मैं अपने छात्राें को पीटते हुए नहीं देख सकता। उनकी रक्षा करना मेरी जिम्मेदारी है। मेरे छात्रों को पीटा गया और उनकी ओर से बोलने पर मुझे धमकाया गया। ऐसी स्थिति में निदेशक पद पर रहते हुए काम करना बहुत मुश्किल है। इसको देखते हुए मैंने निदेशक पद से इस्तीफा दे दिया।

चीफ प्रॉक्टर बोले- आत्मसम्मान से बड़ा कुछ नहीं
आईईटी के निदेशक के अलावा विश्वविद्यालय के चीफ प्रॉक्टर मनोज श्रीवास्तव ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उनका कहना है कि विश्वविद्यालय में चीफ प्राक्टर पद की गरिमा होती है। वो लंबे समय से इस पद को संभाल रहे हैं।

मगर, बुधवार को जो हुआ, उस माहौल में काम नहीं कर सकते। छात्रों को बचाने पर उन्हें धमकी दी गई। ऐसे में अपने आत्म सम्मान को खोकर वो पद नहीं संभाल सकते। इसको देखते हुए उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। वो अब इस पद पर काम करने के बिल्कुल भी इच्छुक नहीं है।

छात्रों का हंगामा, रात को तहरीर वापस ली
बधुवार को हुए झगड़े में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुडे़ छात्र नेताओं पर मारपीट और अभद्रता का आरोप लगा है। बताया गया है कि छात्र नेताओं ने ही बीच बचाव कराने वाले शिक्षकों पर मुकदमा कराने की धमकी दी थी। इससे शिक्षक आहत हैं।

पीड़ित छात्रों के साथ आईईटी के छात्रों ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर हंगामा किया। इसके बाद शाम को विश्वविद्यालय की ओर से न्यू आगरा थाने में तहरीर दी गई थी। लेकिन, बाद में दोनों पक्षों समझौता होने के बाद तहरीर को वापस ले लिया गया है।