• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • Disputes In Social Media And IT Department, Allegations Against Metropolitan President, 16 IT Coordinators Resigned, A Video Became The Reason

आगरा...भाजपा के सोशल मीडिया और आईटी विभाग में तकरार:पदाधिकारियों को मंच न देने को लेकर हुआ बवाल,16 आईटी संयोजकों ने दिए इस्तीफे

आगरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीती 30 सितंबर को आयोजित भाजपा  आईटी व सोशल मीडिया विभाग की संयुक्त कार्यशाला के बाद शुरू हुआ विवाद। - Dainik Bhaskar
बीती 30 सितंबर को आयोजित भाजपा  आईटी व सोशल मीडिया विभाग की संयुक्त कार्यशाला के बाद शुरू हुआ विवाद।

सोशल मीडिया और आईटी विभाग के जरिए जन जन तक पहुंचने की बात करने वाली भारतीय जनता पार्टी के आईटी विभाग के 16 संयोजकों ने इस्तीफा दे डाला है। इस्तीफे की वजह सोशल मीडिया विभाग द्वारा एक वीडियो अपलोड करना और महानगर अध्यक्ष द्वारा कार्यकर्ताओं को गलत तरीके से बात करना बताया है, हालांकि शहर अध्यक्ष ने पूर्व आईटी महानगर संयोजक को गलत ठहराते हुए मामले की जानकारी प्रदेश स्तर पर होने की बात कही है।

यह है पूरा मामला

बता दें कि 30 सितम्बर को आगरा के फतेहाबाद रोड पर भाजपा आईटी विभाग और सोशल मीडिया विभाग की आगरा कमिश्नरी की संयुक्त बैठक आयोजित की गई थी। बैठक में मुख्य अतिथि प्रदेश संयोजक हर्ष कुमार और कामेश्वर थे। इस बैठक में 41 आईटी संयोजकों और साथ ही सोशल मीडिया संयोजकों ने भाग लिया था।

पूर्व आईटी महानगर संयोजक प्रिंस चाहर का आरोप है कि आयोजन के दौरान उनके महानगर अध्यक्ष नीरज गुप्ता को मंच नहीं दिया गया और अन्य बड़े पदाधिकारियों को भी मंच नहीं मिला। इसके बाद बृज क्षेत्र के सोशल मीडिया संयोजक जितेंद्र कुमार सविता द्वारा आयोजन का एक वीडियो पोस्ट किया गया और उस वीडियो में सिर्फ अपने लोगों को दिखाया गया, आईटी वालों को दरकिनार कर दिया गया। इसके बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर उनके इस कृत्य की आलोचना की गयी और मामला बहुत ज्यादा बढ़ गया।

30 सितंबर को हुई आईटी व् सोशल मीडिया की संयुक्त कार्यशाला की फ़ाइल फोटो
30 सितंबर को हुई आईटी व् सोशल मीडिया की संयुक्त कार्यशाला की फ़ाइल फोटो

महानगर अध्यक्ष पर अभद्रता का लगाया आरोप

प्रिंस चाहर ने आरोप लगाया है की सोशल मीडिया पर चल रहे विवाद के बाद महानगर अध्यक्ष ने बुलाया और दबाव बनाकर उनकी पोस्ट डिलीट करवाई। इसके बाद उनसे कहा की अगर यह पोस्ट डिलीट न होती तो अब तक दूसरा संयोजक बन जाता। हमारे वरिष्ठ नेताओं का अपमान और हमपर दबाव पड़ने पर छह अक्टूबर को इस्तीफा दे दिया। हमारे साथ 16 लोगों ने इस्तीफा दिया है। इसके बाद नया आईटी महानगर संयोजक नियुक्त किया गया है और वो नवनियुक्त संयोजक शिक्षा और अन्य मामलों में पद के उपयुक्त नहीं है। शानिवारर या रविवार को हम 20 से 25 लोग एक साथ एक मंच पर आकर प्रेस कांफ्रेन्स कर खुलासा करेंगे।

महानगर अध्यक्ष ने दिया जवाब

महानगर अध्यक्ष भाजपा भानु महाजन ने इस प्रकरण के बारे में बताया कि उक्त व्यक्ति द्वारा पार्टी विरोधी कार्य किये गए । भाजपा में किसी वरिष्ठ का अपमान कभी नहीं किया गया है। जिनका वो नाम ले रहे हैं उनसे बात कर ली जाए। यह व्यक्ति जिन्हें बहलाकर अपने साथ ले गए हैं वो भी अपना इस्तीफा वापस लेने का प्रयास कर रहे हैं।

जिन लोगों के इस्तीफे उनके द्वारा दिखाए गए हैं वो असली हैं या नहीं, इसकी जांच भी की जानी चाहिए। आईटी महानगर अध्यक्ष नीरज गुप्ता से बात करने पर उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं से आज बातचीत की जा रही है। महानगर अध्यक्ष द्वारा कोई मीटिंग नहीं कि गयी है और न कोई अपमान किया गया है। आज बैठक कर सभी मामलों को सुलझा लिया जाएगा।

इन्होंने दिया इस्तीफा

1- आगरा महानगर आई०टी संयोजक प्रिंस चाहर

2 - दीन दयाल मंडल आई०टी सह संयोजक सन्नी वर्मा

3 - दीन दयाल मंडल आई०टी संयोजक विपिन ठाकुर

4 - शिवाजी मंडल आई०टी सह संयोजक विनोद कुमार

5 - शिवाजी मंडल आई०टी संयोजक अमन कुलश्रेष्ठ

6 - केशव मंडल आई०टी संयोजक दुर्गेश कुमार

7 - केशव मंडल आई०टी सह संयोजक मुकद्दर गोला

8 - मनकामेश्वर मंडल आई०टी संयोजक धीरज शुक्ला

9 - मनकामेश्वर मंडल आई०टी सह संयोजक प्रभाकर शर्मा

10 - दयालबाग मंडल आई०टी संयोजक राजीव त्रिपाठी

11 - दयालबाग मंडल आई०टी सह संयोजक रवि प्रजापति

11 - कैलाश मंडल आई०टी संयोजक विवेक गर्ग

12 - छावनी विधानसभा आई०टी संयोजक राजेश प्रजापति

13 - दक्षिण विधानसभा आई०टी संयोजक हिमांशु गोस्वामी

14 - उत्तर विधानसभा आई०टी संयोजक विवेक प्रताप

दो अन्य

खबरें और भी हैं...