बिस्लेरी कंपनी के एमडी, डायरेक्टर सहित 14 के खिलाफ एफआइआर:डिस्ट्रीब्यूटर ने चार लाख की धोखाधड़ी का लगाया आरोप, रुपए मांगने पर धमकी का भी आरोप

आगरा:6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थाना एत्माद्दौला में दर्ज हुआ बिस्लेरी कंपनी के अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा - Dainik Bhaskar
थाना एत्माद्दौला में दर्ज हुआ बिस्लेरी कंपनी के अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा

थाना एत्माद्दौला में बिस्लेरी इंटरनेशनल कंपनी के एमडी, चेयरमैन, डायरेक्टर सहित 14 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया गया है। ये मुकदमा कंपनी के डिस्ट्रीब्यूटर ने दर्ज कराया है। उनका आरोप है कि कंपनी ने रुपये लेकर माल नही दिया व बिना पूर्व जानकारी के डिस्ट्रीब्यूटर शिप भी किसी और को दे दी। साथ ही रुपये मांगने पर उनको धमकी दी।

चार लाख की धोखाधड़ी का आरोप
देवरी रोड निवासी गिरीश चंद्र शर्मा ने बताया कि वह वर्ष 2019 से बिस्लेरी इंटरनेशनल प्रा. लिमिटेड कंपनी के अधिकृत डिस्ट्रीब्यूटर हैं । उनकी थाना एत्माद्दौला क्षेत्र के शाहदरा चुंगी, रामबाग, जीवनी मंडी ,कुबेरपुर आदि क्षेत्रों में सप्लाई थी। एफआईआर के अनुसार, गिरीश शर्मा ने कंपनी के एक्सिस बैंक एकाउंट में कंपनी के उत्पादों की खरीद के लिए 4 लाख रुपए ट्रांसफर किए थे। कंपनी ने उनके साथ धोखाधड़ी की और रुपए हड़प लिए है। माल के पैसे लेने के बाद भी माल नही दिया । इसके बाद क्षेत्र में उनको पूर्व सूचना दिए बिना दो नए डिस्ट्रीब्यूटर बना दिए। एनओसी और बिना पुराना हिसाब किताब किए हुए सारी रकम हड़प ली । इस संबंध में कोई भी नोटिस नहीं दिया गया। डिस्ट्रीब्यूटर के द्वारा उनको काफी नुकसान हुआ है। आरोप है कि 25 अप्रैल को बिस्लेरी कंपनी आगरा के ऑफिस में माल की जानकारी के लिए फोन किया तो मैनेजर नवनीत गुप्ता ने बात करने से इंकार कर दिया। साथ ही बाद में धमकी देते हुए कहा कि हमने तुम्हारी सप्लाई को रोक दिया । रुपए वापस मांगने पर कहा कि एक भी रुपया तुमको नहीं मिलेगा कोई हिसाब बाकी नहीं है । जो करना है कर लो पुलिस वाले दरोगा जज सब मेरे जानकार हैं। गिरीश चंद्र शर्मा का कहना है कि उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी एमडी चेयरमैन और निदेशक को लीगल नोटिस भेजकर दी। मगर, उनके किसी नोटिस का जवाब नहीं दिया गया।

इनके खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा
इस मामले में रमेश चंद चौहान चेयरमैन एमडी , जैनाब चौहान (डायरेक्टर ), जयंती चौहान (डायरेक्टर),अंगलो जॉर्ज ( डायरेक्टर सीईओ) अंजना घोष (डायरेक्टर), राजेंद्र कुमार गर्ग (डायरेक्टर ), पराग बंगाली (डायरेक्टर), कादिर खान (डायरेक्टर), मुकेश अग्रवाल, चंदर गुप्ता, नवनीत गुप्ता ,अक्षय कुलश्रेष्ठ ,सैंकी अग्रवाल, अमन गुप्ता के खिलाफ मुकदमा थाना एत्माद्दौला पंजीकृत कराया गया ।

कंपनी ने कहा कि खराब प्रदर्शन पर समाप्त किया लाइसेंस
इस मामले में बिस्लेरी कंपनी सभी आरोपों का खंडन किया है। कंपनी की ओर से कहा गया है कि गिरीश चंद्र का लाइसेंस खराब प्रदर्शन पर समाप्त किया गया था। बिस्लेरी की सेल्स टीम के प्रति उनका व्यवहार भी अनुचित और अपमानजनक था। उनकी ओर से तीन माह से अधिक समय से रामबाग क्षेत्र में काम नहीं किया जा रहा था। इसके लिए उन्हें कई चेतावनी दी गई थीं। चार लाख रुपये के बारे में कंपनी ने अवगत कराया था कि बकाया राशि अगर होती है तो उसे काटकर रुपये वापस कर दिए जाएंगे। उनके बैंक के विवरण उपलब्ध नहीं कराया गया।

खबरें और भी हैं...