• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • Enthusiasm Shown In Children, 40 Percent Children Reached Private Schools On The First Day, Less Attendance In Government Schools

ताजनगरी के स्कूलों में बच्चों का ताली बजाकर हुआ वेलकम:बच्चों में दिखा उत्साह, पहले दिन प्राइवेट स्कूलों में 40 फीसद बच्चे  पहुंचे, सरकारी स्कूलों में कम रही उपस्थिति

आगरा:5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोविड गाइडलाइन का पालन कराते हुए स्कूलों में कक्षाएं शुरू हो गई हैं। - Dainik Bhaskar
कोविड गाइडलाइन का पालन कराते हुए स्कूलों में कक्षाएं शुरू हो गई हैं।

नए शैक्षिक सत्र में सोमवार सुबह से स्कूलों में चहल-पहल दिखाई दी। पांच माह बाद जब छात्र स्कूलों में पहुंचे तो शिक्षकों ने ताली बजाकर उनका स्वागत किया। बच्चे भी उत्साहित नजर आए। निजी स्कूलों में पहले दिन करीब 40 फीसद तो सरकारी और एडेड स्कूलों में 20 फीसद छात्र की उपस्थित रहे। स्कूल वाहन न आने के कारण अभिभावक की बच्चों को छोड़ने स्कूल पहुंचे।

होली पब्लिक स्कूल में थर्मल स्क्रीनिंग के बाद बच्चों एंट्री दी गई।
होली पब्लिक स्कूल में थर्मल स्क्रीनिंग के बाद बच्चों एंट्री दी गई।

गेट पर थर्मल स्क्रीनिंग, क्लास में भी दूर-दूर बैठे बच्चे
सोमवार सुबह आठ बजे से पहले स्कूलों में बच्चे पहुंचाना शुरू हो गए थे। एंट्री से पहले गेट पर सभी की थर्मल स्क्रीनिंग हुई। इसके बाद मास्क लगाकर ही अंदर प्रवेश दिया गया। होली पब्लिक स्कूल में बच्चों की एंट्री के समय सभी शिक्षकों ने ताली बजाकर स्वागत किया। इसी तरह बलूनी पब्लिक स्कूल में भी बच्चों का ताली बजाकर स्वागत किया गया। नई सत्र में क्लास रूम का नजारा भी अलग है। पहले एक सीट पर पास-पास बैठने वाले बच्चे दूर-दूर बैठे थे। कोरोना गाइडलाइन के चलते बच्चों को टीचर द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की हिदायत भी दी जा रही थी। नेशनल प्रोगेसिव स्कूल ऑफ आगरा के अध्यक्ष संजय तोमर ने बताया कि कोविड गाइडलाइन का पालन कराते हुए कक्षाएं शुरू हो गई हैं। पहले दिन 40 प्रतिशत स्टूडेंट्स आएं हैं।

अभिभावकों की अनुमति के बाद ही बुलाया
जीडी गोयंका स्कूल में पहले दिन करीब 30 फीसद स्टूडेंट आए। स्कूल के प्रधानाचार्य पुनीत वशिष्ठ ने बताया कि बच्चों को बुलाने से पहले अभिभावकों की सहमति ली गई थी। ऐसे में अभी जिन बच्चों के अभिभावकों ने सहमति प्रदान की है, वो ही स्कूल आएं हैं। कोविड प्रोटोकाल का पालन कराते हुए पढ़ाई कराई जा रही है। आने वाले दिनों में स्टूडेंट्स की संख्या और बढ़ने की उम्मीद है।

एडेड स्कूलों में कम रही छात्र संख्या
प्राइवेट स्कूलों के साथ सरकारी स्कूलों में भी बच्चे पहुंचे, लेकिन अधिकांश सरकारी स्कूलों में छात्र संख्या कम रही है। राजकीय इंटर कॉलेज पंचकुइयां कें 20 फीसद छात्र ही पहुंचे। कई क्लास में केवल सात-आठ बच्चे ही आए। इसी तरह अग्रसेन इंटर कॉलेज, दिगंबर जैन इंटर कॉलेज, डीएवी इंटर कॉलेज में छात्रों की उपस्थिति काफी कम रही।

खबरें और भी हैं...