• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • Honda Amaze Car Deployed On Health Department Duty Was Running On Registration Number Of Swift Car In Agra, Driver Found It And Handed It Over To The Police, SP City Reached The Spot

स्वास्थ्य विभाग की ड्यूटी में लगी चोरी की कार:आगरा में स्विफ्ट के नंबर पर चल रही थीं होंडा अमेज, वाहन चालक ने पकड़कर पुलिस को सौंपा

आगरा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आगरा के थाना जगदीशपुरा क्षेत्र में चोरी की कार बरामद हुई है - Dainik Bhaskar
आगरा के थाना जगदीशपुरा क्षेत्र में चोरी की कार बरामद हुई है

आगरा में एक ही रजिस्ट्रेशन नंबर से दो कारें चल रही थीं। जब बैंक कर्मचारी राहुल दीक्षित ने अपनी स्विफ्ट कार का नंबर सामने से गुजर रही होंडा अमेज पर देखा, तो उन्होंने आगरा पुलिस कंट्रोल रूम को इसकी सूचना दी। इसके बाद पुलिस ने मौके से होंडा अमेज कार (यूपी 80 डीटी 9350) को जब्त कर लिया और चालक को हिरासत में ले लिया।

स्वास्थ्य विभाग में ट्रेवेल एजेंट ने चोरी की कार अटैच की थी। अपनी गाड़ी के नंबर पर चल रही कॉमर्शियल कार देख कर कार मालिक ने गाड़ी को ढूंढ कर पुलिस के हवाले कर दिया। गाड़ी पर स्वास्थ्य विभाग लिखा होने के चलते सीएमओ को जानकारी दी गई है। मामले की जानकारी मिलने के बाद एसपी सिटी विकास कुमार मौके पर पहुंच गए।

उन्होंने बताया कि घटना की सूचना मिलने के बाद वह खुद जांच के लिए मौके पर पहुंचे हैं। जांच के बाद विधिक कार्रवाई की जाएगी। कार की तलाशी लेने पर उसमें कोरोना से संबंधित दवाओं के तीन कार्टून मिले। ड्राइवर ने गाड़ी के स्वास्थ्य विभाग में लगे होने की बात बताते हुए दवाओं के पर्चे और सरकारी ड्यूटी के कागज दिखाए। गाड़ी सुरज शर्मा नामक व्यक्ति की एसएस टूर्स एंड ट्रेवेल्स की बताई गई जा रही है।

इत्तेफाक से खुल गया मामला

चोरी की गाड़ी में आगरा के राहुल दीक्षित की स्विफ्ट डिजायर का नंबर लिखा हुआ था। कॉमर्शियल इस्तेमाल होने वाली इस गाड़ी पर स्वास्थ्य विभाग उत्तर प्रदेश सरकार लिखा हुआ था। सरकारी विभाग का नाम लिखा होने की वजह से गाड़ी कहीं भी चेकिंग में रोकी नहीं जाती थी। इत्तेफाक से राहुल दीक्षित नेहरू नगर पेट्रोल पंप पर पेट्रोल डलवाने गए थे।

वहां उन्हें अपनी गाड़ी का नंबर लिखी दूसरी कार देखी। उन्होंने पीछा किया पर होंडा अमेज कार आवास विकास में पहुंचने के बाद गायब हो गई। सुबह पांच बजे राहुल दीक्षित ने गाड़ी को ढूंढना शुरू किया और थाना जगदीशपुरा अंतर्गत सेक्टर चार पुलिस चौकी क्षेत्र में आवास विकास में पॉल स्कूल के पास उन्हें गाड़ी दिख गई। इसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी और कार को पुलिस के पास जब्त करवा दिया।

गाड़ी पकड़ी जाने के बाद ट्रेवल्स कंपनी का मालिक फोन बंद कर फरार हो गया है। एसपी सिटी विकास कुमार ने बताया कि सीएमओ अरुण कुमार को मामले की सूचना दी गई है। जांच की जा रही है और इसके बाद विधिक कार्रवाई की जाएगी।