पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • In Firozabad, The Doctor Told The Cold Cold Without Investigating, Corona, The Villagers Caught Him And Beat Him Fiercely; Admitted To Hospital

झोलाछाप का डंडों और हथौड़े से इलाज:फिरोजाबाद में डॉक्टर ने सर्दी जुकाम को बता दिया कोरोना, आइसोलेट कराने की देता था धमकी; ग्रामीणों ने धुन दिया

फिरोजाबाद2 महीने पहले
फिरोजाबाद में झोला छाप डॉक्टर।

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में झोलाछाप डॉक्टर का कोरोना का इलाज करने का एक दिलचस्प मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि सर्दी जुकाम से पीड़ित कोई ग्रामीण यदि उसके पास जाता था तो उसे कारोना का भय दिखाकर पैसे ऐंठता था। जब ग्रामीण जांच कराने की बात कहते थे तो कहता था कि स्वास्थ्य विभाग से टीम बुलाकर 14 दिन के लिए आइसोलेट करा देगा। इस तरह सर्दी जुकाम का एक मामला जब उसके सामने आया तो उसने उसे कोरोन बता दिया। गुस्साए ग्रामीणों ने मिलकर जमकर उसकी पिटाई कर दी। उसे बाद में अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

जानकारी के अनुसार, थाना शिकोहाबाद क्षेत्र के नगला बाग निवासी राकेश कुमार ग्रामीण क्षेत्र में लोगों का इलाज करते हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक उनके पास कोई डिग्री नहीं है। वह झोलाछाप हैं। मंगलवार देर शाम नगला जवाहर निवासी ग्रामीणों ने उन्हें गांव में सर्दी और जुकाम होने की बात कहते हुए उपचार के लिए गांव बुलाया था। गांव में एक वृद्ध जो सर्दी और जुकाम से ग्रसित थे। डॉक्टर ने उन्हें देखते हुए कोरोना घोषित कर दिया जबकि उनकी कोरोना की जांच ही नहीं हुई थी।

कोरोना का नाम सुनते ही डॉक्टर को ग्रामीणों ने पीटा

कोरोना सुनते ही ग्रामीणों ने डॉक्टर को पकड़ लिया और जमकर पिटाई कर दी। डॉक्टर के मुताबिक एक ग्रामीण ने उनके सिर में हथौड़े से वार कर दिया जिससे वह घायल हो गए। किसी तरह डॉक्टर अपनी जान बचाकर शिकोहाबाद थाने पहुंच गया। जहां डॉक्टर ने लूट और मारपीट करने की तहरीर दी है। पुलिस ने घायल डॉक्टर को अस्पताल में भर्ती कराया।

कोरोना का डर दिखाकर पैसे ऐंठता था

ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि झोलाछाप डॉक्टर ग्रामीणों को कोरोना का भय दिखाकर उनसे पैसे ऐंठता है। पैसे न देने पर स्वास्थ्य विभाग को जानकारी देकर 14 दिन के लिए आइसोलेट कराने की बात कहता है। गांव में मरीज देखते समय डॉक्टर ने ऐसा ही किया। मरीज को कोरोना बता दिया।

इस मामले में इंस्पेक्टर शिकोहाबाद पीके मलिक का कहना है कि तहरीर के आधार पर मामले की जांच की जा रही है। वहीं, सीएमओ डॉ. नीता कुलश्रेष्ठ का कहना है कि जो झोलाछाप डॉक्टर कोरोना को लेकर भय का माहौल पैदा कर रहे हैं, उनके विरुद्ध अभियान चलाकर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...