आगरा...दूसरे दिन भी जारी है इनकम टैक्स की कार्रवाई:अखिलेश यादव के करीबी मनु अलघ के घर चाबी बनाने वाले को लेकर आई आईटी टीम, रात भर खंगाले गए दस्तावेज

आगरा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शू एक्सपोर्टर के घर से बाहर निकलता चाबी बनाने वाला कारीगर। - Dainik Bhaskar
शू एक्सपोर्टर के घर से बाहर निकलता चाबी बनाने वाला कारीगर।

आगरा में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के करीबी शू एक्सपोर्टस के यहां दूसरे दिन भी इनकम टैक्स विभाग की कार्रवाई जारी है। 24 घंटे से ज्यादा समय से आयकर विभाग की टीमें अलग-अलग स्थानों पर दस्तावेजों को खंगाल रही हैं। अब आयकर विभाग ने बुधवार सुबह मनु अलघ के घर पर ताले और लॉकर खोलने के लिए चाबी बनाने वाले को बुलाया है। इससे पहले इनके बैंक लॉकरों को भी सीज करने की कार्रवाई की जा चुकी है।

चाबी बनाने वाले कारीगर को लाई टीम
आगरा में मंगलवार सुबह इनकम टैक्स की टीम ने शू कारोबारी मनु अलघ, विजय आहूजा, मानसी चंद्रा और राजेश सहगल के आवास सहित 11 प्रतिष्ठानों पर छापे मारे थे। देर रात तक टीमें सभी के घरों पर जांच में जुटी थीं। बुधवार सुबह आयकर विभाग की टीम लाजपत कुंज में मनु अलघ के घर पर चाबी बनाने वाले कारीगर को लेकर पहुंची। माना जा रहा है कि टीम को घर में कुछ ऐसे लॉकर मिले हैं, जिनकी चाबी उन्हें नहीं मिली है। ऐसे में विभाग ने उन लॉकरों को खुलवाने के लिए चाबी बनाने वाले को बुलाया । वो एक घंटे से ज्यादा समय तक अंदर रहा। पुलिस ने चाबी बनाने वाले से मीडिया को बात नहीं करने दी। वहीं, सूत्रों के मानें तो विभाग की जांच का दायरा और बढ़ सकता है। इसमें कारोबारियों के कई करीबियों के यहां भी टीम जा सकती है।

शाम तक जारी कर सकते हैं बयान
इनकम टैक्स विभाग की ओर से अभी तक इस कार्रवाई पर कुछ भी नहीं बताया गया है। अधिकारियों की गाड़ियां लगातार आ - जा रही हैं। मगर कोई भी अधिकारी कुछ बोलने को तैयार नहीं है। माना जा रहा है कि बुधवार शाम तक विभाग की ओर से कार्रवाई के संबंध में कोई बयान जारी किया जा सकता है। वहीं, बताया जा रहा है कि यह कार्रवाई गुरूवार तक जारी रह सकती है।

सीएलई के कई पुरस्कार प्राप्त कर चुके हैं चारों
जिन चार शू एक्सपोर्टस के घर पर इनकम टैक्स की कार्रवाई चल रही है, वो काउंसिल फॉर लेदर एक्सपोर्ट से कई पुरस्कार हासिल कर चुके हैं। महिला उद्यमी के रूप में मानसी चंद्रा को सीएलई ने पुरस्कृत किया था। ओम एक्सपोर्ट के पार्टनर विजय आहूजा व राजेश सहगल भी पुरस्कार प्रदान कर चुके हैं।

खबरें और भी हैं...