टीटीजेड में कैसे रुकेगा प्रदूषण?:ताजमहल से 1 किमी दूर कबाड़ी जला रहे तार, धुएं से गुबार से हो रहा नुकसान

आगरा2 महीने पहले
ताजमहल से मात्र 1किमी की दूरी पर आई लव आगरा सेल्फी प्वाइंट के पास कबाड़ी का काम करने वाले रोजाना बिजली के तार जला रहे हैं

आगरा मंडलायुक्त ने सोमवार को टीटीजेड की मीटिंग के दौरान प्रदूषण रोकने के लिए पुराने वाहन जब्त करने और कोयला जलाने तक पर प्रतिबंध लगाया था। इसके बावजूद ताजमहल के पास रिहायशी स्थान पर ही कबाड़ी खुलेआम ​​​​​​क्विंटलों बिजली के तार जलाकर कॉपर निकालने का काम कर रहे हैं। धुएं से गुबार से प्रदूषण लगातार बढ़ रहा है।

पश्चिमी गेट रोड पर कूड़ा जलाया जाता हुआ
पश्चिमी गेट रोड पर कूड़ा जलाया जाता हुआ

दुनिया के सातवें अजूबे ताजमहल को प्रदूषण से बचाने के लिए आगरा को टीटीजेड घोषित किया गया और तमाम उद्योग बंद कर दिए गए। सोमवार को मंडलायुक्त ने बैठक कर आगरा में कोयला जलाने तक पर प्रतिबंध लगाया है। इसके बावजूद निचले स्तर पर कठोर कार्रवाई न होने के कारण प्रदूषण का स्तर कम नहीं हो पा रहा है।

सफाईकर्मी अधिकतर कूड़ा इकट्ठा कर उसे जला देते हैं। इसके साथ ही सबसे बड़ी परेशानी ताजगंज के तोरा चौकी क्षेत्र में हो रही है। यहां आई लव आगरा सेल्फी प्वाइंट के पास कबाड़ी का काम करने वाले लोग रोजाना कुंतलों के हिसाब से बिजली के तार जला कर कॉपर निकालने का काम कर रहे हैं। रिहायशी कालोनी में बड़े स्तर पर कबाड़ के गोदाम बना लिए गए हैं। पूर्व में यहां कई अपराधिक गतिविधियां भी देखने को मिली हैं।