पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हाथरस में 'शराब की नहर':हसायन में नहर में निकल रही अलीगढ़ में फेंकी गई शराब, ग्रामीण एकत्र कर रहे, पुलिस ने कब्जे में ली

हाथरस19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नहर में आ रही शराब को देखते लोग। बोरियों में शराब भरकर रखी जा रही। - Dainik Bhaskar
नहर में आ रही शराब को देखते लोग। बोरियों में शराब भरकर रखी जा रही।

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से भारी मात्र में शराब जवां नहर में फेंकी गई है। यह शराब अब अलग-अलग जिलों में बरामद होने लगी है। इसकी कड़ी में अलीगढ़ से हाथरस जिले के हसायन की ओर आने वाली नहर में यह शराब निकल रही है। इनमें गुड ईवनिंग ब्रांड की देशी शराब के पौव्वे, बोतलें मिल रही हैं। पिछले दो दिनों से रोज इस तरह की बोतलें बरामद हो रही हैं। ग्रामीण इस शराब को इकट्‌ठा करने में लग गए तो पुलिस ने जाकर कब्जे में ली। रेलवे ट्रैक के पास नहर में चार बोरों में देसी क्वाटर मिले हैं। पुलिस ने समझाया कि यह अलीगढ़ की जहरीली शराब है। गौर हो कि यही जहरीली शराब पीकर अलीगढ़ में 107 लोगों की मौत हो चुकी है।

अलीगढ़ के जवां क्षेत्र में फेंकी गई शराब
जहरीली शराब पीने से अलीगढ़ में जहाँ 107 लोगों की मौत हो चुकी है। इस पर पुलिस जिले भर में दबिश दे रही है, इसी के डर के कारण शराब माफिया ने बहुत सारी शराब जवां क्षेत्र में बहने वाली नहर में फेंक दी थी। दो दिन पहले उसी नहर के किनारे कई पेटी शराब बरामद हुई थी। इसे कुछ भट्‌ठे पर काम करने वाले मजदूर उठा ले गए थे। उस शराब के पीते ही मजदूरों की हालत बिगड़ गई थी। इसके बाद उसी शराब से 15 लोगों की मौत हो गई है। बीस से ज्यादा लोग अभी भी जिंदगी मौत से जूझ रहे हैं।

पुलिस की मुनादी, ये शराब नहीं जहर है, इसे न पिएं
हाथरस पुलिस नहर के किनारों और गांवों में जाकर ये मुनादी करवा रही है कि नहर से मिली शराब का सेवन न करें। यह शराब अलीगढ़ में फेंकी गई है, यह जहरीली शराब है। इसके सेवन से लोगों की मौत हुई है। जहां कहीं भी इस तरह की शराब मिले तत्काल पुलिस को सूचित करें, ताकि लोगों की जान बचाई जा सके। पुलिस ने ग्रामीणों को विश्वास पर्ची भी दी दे रही है। जिसपर पुलिस का नंबर लिखा है और गांव वालों को बताया जा रहा है कि दिए गए इस नंबर पर पुलिस को सूचित करें।