आगरा में आप नेता संजय सिंह का सरकार पर हमला:बोले- योगी सरकार के 153 विधायक 2 से अधिक बच्चों वाले, इनका इस्तीफा लेकर सरकार स्थापित करे आदर्श; राम मंदिर जमीन घोटाल को लेकर जाएंगे कोर्ट

आगराएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जब दो से ज्यादा बच्चों वाला प्रधान, मेयर, बीडीसी या पंचायत अध्यक्ष नहीं बन सकता तो मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री कैसे बन सकता है। - Dainik Bhaskar
जब दो से ज्यादा बच्चों वाला प्रधान, मेयर, बीडीसी या पंचायत अध्यक्ष नहीं बन सकता तो मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री कैसे बन सकता है।

सदस्यता अभियान के लिए आगरा पहुंचे आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने शुक्रवार को योगी सरकार पर जमकर कटाक्ष किए। उन्होंने ओवैसी और योगी के बीच चैलेंज को नूरा कुश्ती बताया है।उन्होंने राम मंदिर ट्रस्ट को मंदिर बनाने की बजाए तोड़ने वाला बताते हुए मुकदमा दर्ज न होने पर न्यायालय की शरण लेने की बात कही।

जनसंख्या कानून मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री पर हो लागू

योगी सरकार के जनसंख्या नियंत्रण बिल पर उन्होंने आपत्ति जताते हुए कहा कि जब दो बच्चे से ज्यादा वाला प्रधान, मेयर, बीडीसी या पंचायत अध्यक्ष नहीं बन सकता तो मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री कैसे बन सकता है।इसलिए सरकार को दो से अधिक बच्चों वाले एमपी, एमएलए के चुनाव लड़ने पर भी रोक लगनी चाहिए। योगी सरकार के 153 विधायक दो से अधिक बच्चों वाले हैं। इनका इस्तीफा लेकर सरकार को आदर्श स्थापित करना चाहिए।

ओवैसी और योगी के बीच नूराकुश्ती संजय सिंह ने योगी और ओबैसी को नूरा कुश्ती पर कहा कि यहां पहले से पहलवान को पता है कि कौन जीतेगा। हमने पंचायत चुनाव में 480 प्रत्याशी जिताए हैं, हम भी कहते हैं कि हम योगी को हराएंगे तो उन्होंने चैलेंज नहीं स्वीकारा पर ओवैसी कहते हैं हम योगी को हराएंगे तो योगी जी ने चैलेंज स्वीकार कर लिया। उन्होंने कहा कि योगी यह यूपी है, यहां बच्चा चलने से पहले राजनीति सीख लेता है।

पंचायत चुनाव में लोकतंत्र की हत्या हुई
प्रदेश में जिला पंचायत चुनाव में भाजपा के लोगों ने एसपी को थप्पड़ मारा, बाप का शव ले जा रहे प्रत्याशी को पुलिस उठा ले गई। महिलाओं की साड़ी खींची जा रही है। इनके सदस्य नहीं जीते पर अध्यक्ष जीत गए क्योंकि यह जोर जबर्दस्ती से जीते। यह लोकतंत्र की हत्या है। मेरी मांग है कि चुनाव रद्द कर जनता द्वारा चुनाव करवाए जाएं।

राम मंदिर ट्रस्ट मंदिर बनाने वाला नहीं तोड़ने वाला ट्रस्ट
संजय सिंह का आरोप है कि कोरोना की तीसरी लहर के नाम पर 53 करोड़ की दलाली हुई। मंदिर शिफ्ट करने की बात कहने वाला ट्रस्ट मंदिर बनाने की जगह तोड़ने वाला हो गया जबकि सुप्रीम कोर्ट का आदेश है की पुराने मंदिर तोड़े नहीं जाएंगे। कोर्ट का आदेश देखिए ऐसा लगता है ट्रस्ट घोटाला और चन्दा चोरी के लिए बनाया गया हो। हमने मुकदमा दर्ज कराने को तहरीर दी हुई है और सुनवाई न हुई तो न्यायालय में मुद्दा लेकर जाएंगे।

विधानसभा चुनाव को लेकर गिनाई घोषणाएं
2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर संजय सिंह ने कहा कि हमारी सरकार आई तो दिल्ली की तर्ज पर मोहल्ला क्लीनिक, मुफ्त बिजली और शिक्षा देंगे। संजय सिंह ने यूपी में गठबंधन की बात को नकारते हुए कहा कि कुछ होगा तो मीडिया को जानकारी दी जाएगी।

जाति की राजनीति जनता खुद करे इलाज
संजय सिंह ने कहा कि प्रदेश में राजनीति जाति के आधार पर होती है और इसका इलाज जनता खुद कर सकती है। उन्होंने कहा कि जनता तय करे कि रोजगार चाहिए, मुफ्त बिजली और मुफ्त शिक्षा चाहिए या जाति की राजनीति चाहिए।

पारस अस्पताल मामले में बोले- लेनदेन हुआ होगा
संजय सिंह ने आगरा के पारस अस्पताल के ऑक्सीजन कांड पर कहा कि यह हत्या है और हत्या का मुकदमा दर्ज होना चाहिए। जिस तरह मामले की जांच हुई है उससे लगता है इसमें लेनदेन हुआ होगा। सप्ताह भर में कार्रवाई नहीं हुई तो हम न्यायालय जाएंगे।

खबरें और भी हैं...