आगरा...ट्रेनों की पार्सल बोगी में चोरी करने वाला गैंग पकड़ा:9 दिन पहले GT एक्सप्रेस से 27 लाख के मोबाइल डिस्प्ले किए थे चोरी, RPF ने दिल्ली से पकड़ा गैंग

आगरा:4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। इनके पास से चोरी का सार माल बरामद कर लिया गया है। - Dainik Bhaskar
आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। इनके पास से चोरी का सार माल बरामद कर लिया गया है।

ट्रेन की बोगियों से महंगी चीजें चोरी करने वाले अंतरराज्यीय गैंग को आगरा कैंट के RPF ने दिल्ली से पकड़ा है। चोरों ने आगरा के बिल्लोचपुरा स्टेशन पर चेन पुलिंग कर ग्रैंड ट्रंक (जीटी) एक्सप्रेस की बोगी से करीब 27 लाख रुपए कीमत के मोबाइल डिस्प्ले के 18 कार्टन पार कर दिए थे। ट्रेन के दिल्ली पहुंचने पर चोरी की जानकारी हुई थी। RPF ने दिल्ली से गैंग के छह शातिर पकडे़ हैं, जबकि एक फरार हो गया।

चेन्नई से नई दिल्ली जाने वाली ट्रेन 02615 जीटी एक्सप्रेस के पार्सल बोगी से 30 जुलाई को मोबाइल की डिस्प्ले दिल्ली भेजी जा रही थीं। जब ट्रेन नई दिल्ली पहुंची तो उसमें मोबाइल डिस्प्ले के कार्टन नहीं थे। इस संबंध में RPF को जानकारी दी गई। पड़ताल हुई तो पता चला कि आगरा के बिल्लोचपुरा स्टेशन पर रात साढे़ तीन से चार बजे के बीच चोरी की गई है। जानकारी के बाद RPF आगरा कैंट की डिटेक्टिव विंग को मामले की जांच सौंपी गई।

राजा मंडी स्टेशन से चढे़ थे चोर, बिल्लोपुरा पर रोक दी ट्रेन
आरपीएफ के सीनियर कमांडेंट पीके पंडा ने बताया कि चोरी की घटना के बाद RPF की टीम ने रेलवे स्टेशनों के CCTV कैमरे की रिकार्डिंग चेक की। इसमें राजा की मंडी रेलवे स्टेशन से ट्रेन में सवार होने वालों में तीन संदिग्ध दिखे। इनकी एक टीम बिल्लोचपुरा पर पहले से तैयार थी। जैसे ही ट्रेन बिल्लोचपुरा पर पहुंची। इन्होंने चेन पुलिंग कर ट्रेन को रोक दिया और मोबाइल डिस्प्ले के 18 कार्टन चोरी कर लिए।

दो दिन दिल्ली में रही टीम
फुटेज मिलने के बाद RPF और GRP की टीम ने इन चोरों के बारे में दूसरे थानों से जानकारी जुटाई। सर्विलांस टीम की मदद से इनकी लोकेशन नई दिल्ली के गुर्जर चौक भलस्वा डेरी के आसपास मिली। RPF इंस्पेक्टर सुरेंद्र चौधरी के नेतृत्व में टीम ने दिल्ली में डेरा डाल लिया। टीम दो दिन इनके एरिया में रही। इनके बारे में जानकारी जुटाई। जब पुख्ता हो गया कि चोरी की घटना को अंजाम देने वाले यही है तो इनको पकड़ लिया गया। इनके पास से चोरी का सार माल बरामद कर लिया गया है।

दो टीम रहती थी सक्रिय
सीनियर कमांडेंट ने बताया कि गैंग बहुत शातिराना तरीके से वारदात करता है। इनकी दो टीमें काम करती हैं। एक टीम ट्रेन में चलती है, जबकि दूसरी टीम चोरी के माल को ले जाने के लिए पहले से तैयार रहती है। पहले से तय जगह पर ये चेन पुलिंग कर ट्रेन को रोकते हैं या फिर चलती ट्रेन से माल को बाहर फेंक देते हैं। इसके बाद इनकी दूसरी टीम माल को ले जाती है।

ये हुए गिरफ्तार
RPF ने गैंग के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया है, जबकि एक आरोपी फरार हो गया। गिरफ्तार हुए अभियुक्त में मो. अकबर, पूरन सलाउद्दीन शाहिद, मो. इमरान और वकील को पकड़ा है। वकील साहिबाबाद का रहने वाला है। जबकि अन्य दिल्ली के रहने वाले हैं।

खबरें और भी हैं...