आगरा पुलिस का गुडवर्क:यमुना में कूदी महिला को बचाकर पति के हवाले किया, घर से गायब बच्चे को परिवार से मिलाया

आगरा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थाना एत्माउद्दौला क्षेत्र में गले की बीमारी से परेशान महिला आत्महत्या करने जा रही थी, तभी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उसे बचा लिया। - Dainik Bhaskar
थाना एत्माउद्दौला क्षेत्र में गले की बीमारी से परेशान महिला आत्महत्या करने जा रही थी, तभी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उसे बचा लिया।

आगरा पुलिस ने शनिवार को दो परिवारों को बड़े दुख से बचाते हुए उनके चेहरों पर मुस्कान लाने का काम किया है। पुलिस ने गले की बीमारी से परेशान महिला को आत्महत्या से रोक कर परिजनों के हवाले किया तो वहीं घर से लापता हुए बच्चे को सकुशल परिवार से मिलाया है।

यमुना में कूदने जा रही महिला को बचाया
जानकारी के मुताबिक शनिवार को थाना एत्माउद्दौला के मोती महल के पास एक महिला यमुना में कूदने जा रही थी। इस दौरान वहां ड्यूटी पर तैनात सिपाहियों ने तत्काल महिला को रोका और महिला पुलिस बुलाकर उनके साथ थाने भेजा। महिला ने अपना नाम हरमुखी पत्नी जगदीश निवासी पोइया बताया। सूचना मिलने पर आए महिला के पति जगदीश ने बताया कि पत्नी को गले की बीमारी है और काफी समय से बीमार रहने के कारण उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। पति ने पुलिस को धन्यवाद दिया है।

घर से लापता मासूम को 12 घंटे में खोजा
थाना ताजगंज के लोहागढ़ गांव से 11 साल का मासूम कान्हा लापता हो गया था। थाना प्रभारी उमेश चंद्र त्रिपाठी ने तत्काल टीम गठित कर बच्चे की तलाश शुरू कर दी थी। 12 घंटे के अंदर पुलिस ने बच्चे को सकुशल बरामद कर परिजनों के सपुर्द कर दिया। बताया जा रहा है कि खेलते हुए बच्चा रास्ता भटक गया था।

खबरें और भी हैं...