आगरा में STF का छापा, पकड़ीं 60 लाख की दवाएं:2 गोदामों से सैंपल की दवाएं मिलीं, औषधि विभाग की टीम रही साथ, 1 हिरासत में

आगरा3 महीने पहले
आगरा में आज दवा गोदामों पर एसटीएफ ने छापा मारा। लाखों रुपये की सेंपल की दवाएं बरामद की गई हैं।

आगरा में गुरुवार को STF और औषधि विभाग की टीम ने ताजगंज में दवाओं के गोदामों पर छापा मारा। इस दौरान 60 लाख की सैंपल की दवाएं मिलीं। STF ने एक व्यक्ति को हिरासत में ले लिया है। दो अलग-अलग स्थानों पर किराए पर कमरे लेकर दवा के गोदाम संचालित किए जा रहे थे। इन दवाओं को कहां पर खफाया जा रहा था, टीम मामले में पूछताछ कर रही है।

STF ने थाना ताजगंज क्षेत्र के राधेकृष्ण धाम कॉलोनी एवं बाग खेलनी मोहल्ले में एक साथ दो जगह छापामार कार्रवाई की। यहां बड़ी मात्रा में सैंपल की दवाएं पकड़ीं गईं। गोदाम का मालिक मोनू को STF ने हिरासत में ले लिया है। ड्रग इंस्पेक्टर राजकुमार शर्मा ने बताया कि बाजार की कीमत के हिसाब से करीब 60 लाख रुपये की दवाएं गोदाम से बरामद हुईं हैं।

इन्हें विभिन्न जगहों से खरीदकर यहां स्टोर किया जाता था। इसके बाद डिमांड के आधार पर इनकी सप्लाई किए जाने की जानकारी मिल रही है। हिरासत में लिए गए गोदाम मालिक से पूछताछ की जा रही है।

गोदाम के लिए किराए पर कमरे देने वाले मकान मालिक से भी पूछताछ की जा रही है। अब तक दी गई जानकारी में सामने आया है कि रोजाना लोडिंग टेम्पों एवं टू व्हीलर के जरिए यहां दिनभर दवाओं के कार्टून आते-जाते रहते हैं।

नशे की दवाएं देशभर में खपाई जा रहीं
आगरा में फुव्वारा दवा बाजार देशभर में मशहूर है। यह दवा की बड़ी मंडियों में शुमार है। अब तक यहां कई बड़े कारोबारियों पर अन्य राज्यों टीमों ने छापा मारकर कार्रवाई की है। पिछले दिनों एनसीबी पश्चिमी बंगाल एवं लखनऊ की टीम ने ड्रग्स के मामले में नमनदीप को जयपुर हाउस से गिरफ्तार करके कोलकाता ले गई थी।

ट्रांसपोर्टर नमनदीप के नाम से रजिस्टर्ड गाड़ी में दो वर्ष पहले लाखों रुपए का ड्रग्स (प्रतिबंधित खांसी सीरप) पकड़ा था। पंजाब पुलिस ने विक्की अरोडा एवं कपिल अरोड़ा को जेल भेजा था।

एनसीबी ने कमलानगर में पंकज गुप्ता के ठिकानों पर करोड़ों रुपए की प्रतिबंधित व नशीली दवाएं जब्त की थीं। गढ़ी भदौरिया में सर्जिकल सामान की अवैध फैक्ट्री पकड़ी गई थी। आवास विकास कॉलोनी में राजौरा बंधुओं का री-पेकिंग का खेल पकड़ा गया था। ट्रांस यमुना कॉलोनी एवं सिकंदरा में गोदामों में कफ सीरप पकड़े गए थे।

मोनोपॉली की दवाओं का भी कारोबार बढ़ा
आगरा में मोनोपॉली दवाओं का कारोबार भी हर रोज बढ़ता जा रहा है। गर्भपात किट की कालाबाजारी हो रही है। नकली और नशे की दवाओं आगरा से दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, हरियाणा, राजस्थान और महाराष्ट्र तक सप्लाई किया जा रहा है।

हैरत की बात यह कि आगरा में इतने बड़े पैमाने पर नकली व नशे की दवाओं का अवैध कारोबार चल रहा है लेकिन स्थानीय स्तर पर ड्रग विभाग को तब खबर हो पाती है जब अन्य प्रांतों की टीमें आकर यहां छापेमारी करती हैं।

खबरें और भी हैं...