पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बलात्कारी हत्यारे को आजीवन कारावास:सात साल पहले नाबालिग की बलात्कार के बाद कि थी हत्या, पुलिस की ठोस पैरवी ने करवाई जेल

आगरा19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
थाना इरादतनगर में बलात्कार और ह्त्या के आरोपी को आगरा न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई - Dainik Bhaskar
थाना इरादतनगर में बलात्कार और ह्त्या के आरोपी को आगरा न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई

आगरा के इरादतनगर थाना क्षेत्र में सात वर्ष पूर्व नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म कर हत्या करने वाले हैवान को न्यायालय ने दोषी मानते हुए आजीवन कारावास और 50 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। फैसले के बाद जहां मृतका के परिवार को न्याय मिलने की खुशी है तो वहीं आरोपी अपनी गलती पर पछताते हुए रो रहा है। एसएसपी मुनिराज के अनुसार थाना पुलिस द्वारा साक्ष्य संकलन में तत्परता और ठोस पैरवी के चलते अपराधी को सजा मिली है। इसके लिए थाना पुलिस बधाई की पात्र है।

सात साल पहले हुई थी घटना

आपको बता दें कि साल 2014 में आगरा के थाना इरादतनगर के गांव पचमोरी में एक 14 वर्षीय मासूम को मुकेश पुत्र कालीचरण द्वारा बहला फुसलाकर ले जाया गया था और सुनसान में उसके साथ जघन्य बलात्कार कर मामले को दबाने के लिए मासूम की नृशंस हत्या कर दी गयी थी। मृतका के परिजनों और ग्रामीणों के हंगामे के बीच पुलिस अपने काम में जुटी हुई थी।

फोरेंसिक जांच ने बदला केस का रुख

एसएसपी मुनिराज के अनुसार पुलिस ने मौके पर फारेंसिक जांच करवाई थी और मृतका के पास मिले वीर्य के सैम्पल और बाल आदि को जांच के लिए भेजा गया था। ठोस सबूतों के साथ पुलिस लगातार अदालत में आरोपी को सजा दिलाने को पैरवी कर रही थी। इसी के चलते आरोपी को सजा सुनाई गई है।

एडीजे ने फैसला सुनाते समय कही यह बात

जानकारी के अनुसार एडीजे 27 की कोर्ट में पॉक्सो एक्ट में सुनवाई हो रही थी। अदालत ने सबूतों को ध्यान में रखकर मुकेश को 302/364 और पॉक्सो एक्ट में आरोपी को दोषी मानते हुए घटना को जघन्य अपराध मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। अदालत का फैसला सुनाते ही आरोपी कटघरे में फूट फूट कर रोने लगा। उसने मृतका के परिजनों से माफ मांगी और खुद को दोषी बताया है। न्याय मिलने के बाद परिजनों की आंखों में खुशी के आंसू दिखायी दिए।

खबरें और भी हैं...