पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मथुरा के चांदी कारोबारी से 43 लाख रुपए लूट कांड:एसटीएफ ने फरार आरोपी असिस्टेंट कमिश्नर को ईदगाह बस स्टैंड से किया गिरफ्तार, 50 हजार का इनाम था घोषित, अभी एक आरोपी है फरार

आगरा:6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी निलंबित असिस्टेंट कमिश्नर पुलिस को चार माह से दे रहा था चकमा। - Dainik Bhaskar
आरोपी निलंबित असिस्टेंट कमिश्नर पुलिस को चार माह से दे रहा था चकमा।

आगरा में मथुरा के चांदी कारोबारी से 43 लाख रुपए लूट मामले में फरार चल रहे GST के दो अधिकारियों में से एक को एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है। एसटीएफ ने 50 हजार के इनामी असिस्टेंट कमिश्नर को ईदगाह बस स्टैंड के पास से पकड़ा है। अभी इसका दूसरा साथी फरार है। चार माह से दोनों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही थी।

सुबह ईदगाह बस स्टैंड से हुई गिरफ्तारी
एसटीएफ के उपनिरीक्षक पवन कुमार ने बताया कि सूचना मिली थी कि चांदी व्यापारी से 43 लाख की लूट में वांछित निलंबित असिस्टेंट कमिश्नर अजय कुमार ईदगाह बस स्टैंड पर आया हुआ है। सूचना पर एसटीएफ ने आरोपी को सुबह चार बजे बस स्टैंड से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने बताया कि वो गिरफ्तारी के डर से दिल्ली, अजमेर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र में अपने जानने वालों के यहां छिपकर रह रहा था। आज वो किसी काम से अपने परिचित से मिलने आया था। इसके पास से लूट की रकम में से एक लाख रुपए, पांच मोबाइल भी बरामद हुए हैं।

कोर्ट में समर्पण को दिया था प्रार्थना पत्र

आरोपी अजय कुमार व शैलेंद्र ने कोर्ट में समर्पण को प्रार्थना पत्र दिया था। इस पर कोर्ट ने पिछले दिनों आगरा पुलिस से आख्या मांगी थी। इस पर 16 सितंबर को सुनवाई होनी थी।

कई जिलों में पुलिस दे चुकी थी दबिश
चांदी कारोबारी से लूटकांड में अब तक आरोपी सिपाही संजीव कुमार और चालक दिनेश कुमार को जेल भेजा जा चुका है। अब निलंबित असिस्टेंट कमिश्नर अजय कुमार भी गिरफ्तार हो गया है। वाणिज्य कर अधिकारी शैलेंद्र कुमार अभी भी फरार है।

यह था पूरा मामला
गोविंद नगर, महाविद्या कालोनी (मथुरा) निवासी चांदी कारोबारी प्रदीप अग्रवाल इसी साल 30 अप्रैल की रात अपने चालक राकेश चौहान के साथ कार से लौट रहे थे। कार में उनका एक थैला था, जिसमें 43 लाख रुपए थे। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे स्थित फतेहबाद टोल पर जीएसटी की टीम ने उनको रोका। उनको जयपुर हाउस स्थित जीएसटी कार्यालय ले आए। वहां उन्हें जेल भेजने का डर दिखाकर 43 लाख रुपए लूट लिए। पीड़ित चांदी कारोबारी ने व्यापारी कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष रविकांत को पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी। फिर चांदी कारोबारी की शिकायत पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कराई। वाणिज्यकर अधिकारी अजय कुमार इंदिरा नगर, लखनऊ और शैलेंद्र कुमार चंदौली निवासी हैं। अजय कुमार आगरा में फिनिक्स पुष्पविला गार्डेनिया अपार्टमेंट व शैलेंद्र कुमार अर्पणा प्रेम अपार्टमेंट में रहते थे।

खबरें और भी हैं...