पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • Taj Mahal Will Open From June 16: Tourists Coming To Agra Will Have To Follow Covid Guidelines, Archaeological Department Order Issued

16 से खुलेगा ताजमहल:आगरा आने वाले पर्यटकों को कोविड गाइडलाइंस का पालन करना होगा, पुरातत्व विभाग आदेश जारी किया

आगरा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना महामारी के चलते ताजमहल 17 मार्च से 188 दिन तक बंद रहा था। - Dainik Bhaskar
कोरोना महामारी के चलते ताजमहल 17 मार्च से 188 दिन तक बंद रहा था।

16 जून से ताजमहल समेत देश भर के तमाम स्मारक अनलॉक होने जा रहे हैं। आज पुरातत्व विभाग ने पत्र जारी कर इसकी पुष्टि कर दी है। आगरा में ताजमहल को खोलने के लिए पुरातत्व विभाग और पुलिस प्रशासन पूरी तैयारी कर चुका है। ताजमहल के बाहर की सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस के आला अधिकारी खुद निरीक्षण कर चुके हैं तो साथ ही बंदी के दौरान पुरातत्व विभाग द्वारा ताजमहल के अंदर मरम्मत और साफ सफाई का कार्य लगातार करवा रहा है। अधीक्षण पुरातत्व विद बसंत कुमार स्वर्णकार के अनुसार कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए ताजमहल पर्यटकों के लिए खोला जाएगा।

188 दिनों तक बंद था ताजमहल
बीते वर्ष कोरोना महामारी के चलते ताजमहल 17 मार्च से 188 दिन तक बंद रहा था। इस बार 15 अप्रैल से आने वाली 15 जून तक बंद रहने के आदेश थे। यूपी में अनलॉक होने के बाद आज पुरातत्व विभाग ने आगामी 16 जून से ताजमहल समेत देश के सभी स्मारकों को एक बार फिर पर्यटकों के लिए खोलने के आदेश जारी कर दिए हैं।

नया जैसा दिखेगा ताजमहल
ताजमहल पर मड पैकिंग के बाद अब बारिश का पानी ताजमहल की धुलाई कर चुका है,ऐसे में ताजमहल का संगमरमर औरधिक दूधिया नजर आ रहा है।मौसम विभाग बारिश होने का अनुमान लगा रहा है।इस कारण यमुना में पानी लबालब होने से ताजमहल की खूबसूरती और अद्धिक बढ़ जाएगी।ताजमहल का वाटर टैंक साफ किया गया है और इसके पानी में खुद का अक्स भी नजर आएगा।ताजमहल परिसर में दीवारों की पच्चीकारी और टूटे पत्थरों की लगातार मरम्मत की जा रही है।अंदर की बागवानी को विशेष तौर पर सजाया गया हैं।

पर्यटकों की संख्या होगी तय
अधीक्षण पुरातत्व विद बसंत कुमार के अनुसार कोविड काल में ताजमहल अनलॉक होने के आदेश के बाद ताजमहल बुधवार से पर्यटकों के लिए खोला जाना है। यहां शिफ्ट में पर्यटकों को भेजने की तैयारी है।शुरुआत में ऑनलाइन टिकट से एक शिफ्ट में मात्र 100 लोग अंदर प्रवेश कर पाएंगे और इन्हें तय समय तक ही परिसर में रहने का मौका मिलेगा।पूर्वी और पश्चिमी गेटों पर हाथ और जूते और पैरों के तलुवे सेनेटाइजिंग की व्यवस्था रहेगी, इसके साथ बिना मास्क प्रवेश नहीं दिया जाएगा।ताजमहल के आस पास झुंड बनाकर खड़े होने पर रोक होगी और बाहर बने शोरूम भी अपने यहां कोविड नियमों का पालन करेंगे।

पर्यटन उद्योग में खुशी की लहर,होटलों ने की तैयारी
आगरा में लगभग साढ़े तीन लाख लोगों की रोजी ताजमहल और अन्य स्मारकों से चलती है।जिनमें होटल इंडस्ट्री,ट्रेवल्स,गाइड,फोटोग्राफर,शिल्पी आदि तमाम लोग हैं।पहले ही पर्यटन उद्योग के हाल बहुत अच्छे नहीं थे और कोरोना ने इसे बिल्कुल धराशाई कर दिया है।अब ताजमहल दोबारा खुलने के आदेश के बाद पर्यटन उद्योग से जुड़े लोगों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के संदीप अरोड़ा के अनुसार अभी पर्यटक कम होने से कोई खास लाभ नहीं होगा और होटल रेस्टोरेंट तो लागत भी निकाल नहीं पाएंगे पर उम्मीद है कि अब ताजमहल पर पर्यटकों की आमद बढ़ने पर एक बार फिर पर्यटन उद्योग को जान मिलेगी।

ताजमहल पर आने पर के लिए इन नियमों का करना होगा पालन

ताजमहल पर सीआईएसएफ और ताजसुरक्षा चौकी इंचार्ज के अलावा कोई भी व्यक्ति हथियार लेकर प्रवेश नही कर सकता है।

ताजमहल परिसर में आप किसी भी तरह की खान पान की सामग्री नही ले जा सकते हैं,सिर्फ पानी की बोतल ही अंदर जा सकती है।

ताजमहल के अंदर किसी भी देश का झंडा या किसी भी तरह के प्रचार की बात लिखे हुए कपड़े नही जा सकते हैं। सिर्फ धार्मिक वक्तव्य लिखा कपड़ा आप पहन कर जा सकते हैं।

ताजमहल में मुख्य द्वार हमेशा बैरिकेटिंग किया रहता है।सिर्फ किसी राष्ट्राध्यक्ष के आने पर यह बैरिकेटिंग हटा कर पूरा द्वार खुलता है। इस दौरान राष्ट्रीय अतिथि का प्रोटोकॉल मानते हुए कोई चेकिंग नही होती है।

ताजमहल में किसी देश के राष्ट्रीय अध्यक्ष के आने पर ताजमहल आम लोगो के लिए बन्द किया जाता है और राष्ट्राध्यक्ष अकेले ताजमहल का दीदार करता है।

कोई भी वीआईपी या आम नागरिक और ताजमहल में काम करने वाला व्यक्ति ताजमहल में बिना तलाशी प्रवेश नही कर सकता है।

ताजमहल के 100 मीटर की दूरी पर लगे बैरियर के अंदर कोई भी पेट्रोल या दीइजल वाहन नही आ सकता है।सिर्फ ताज सुरक्षा और आरटीओ द्वारा जारी पास वाली गाड़िया ही अंदर प्रवेश कर सकती हैं।

बैरियर के अंदर आने जाने के लिए बैटरी संचालित गोल्फ कार और एक वीआईपी बैटरी बस से ही पर्यटक बैरियर के अंदर का सफर कर सकता है। इसके अलावा पैदल ही आया जा सकता है। ताजमहल के किसी भी बैरियर पर पुलिसकर्मी आपकी तलाशी ली सकते हैं।

ताजमहल के अंदर किसी न्यूज चैनल की आईडी और किसी भी तरह का माइक नही ले जाया जा सकता है। ताजमहल परिसर में रॉयल गेट के रेड प्लेटफार्म तक ही वीडियोग्राफी की अनुमति है।

पुरातत्व विभाग को फीस जमा करनी पड़ेगी और उसके बाद भी आप मुख्य गुम्बद के अंदर फ़ोटो या वीडियोग्राफी नही कर सकते हैं।

ताज के मुख्य गुम्बद में कोई भी व्यक्ति जूते पहन कर नही जा सकता है। इसके लिए उसे शू कवर की आवश्यकता होती है। शू कवर सिर्फ विदेशी टिकट पर और वीआईपी गेस्ट को ही मिलता है।

खबरें और भी हैं...