आतंकियों का आगरा कनेक्शन:दिल्ली क्राइम ब्रांच ने दिनभर की सेना के सिपाही से पूछताछ; बुधवार को जासूसी के आरोप में हुई थी गिरफ्तार

आगराएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सेना के दस्तावेजों की ISI के लिए जासूसी के आरोप में दिल्ली क्राइम ब्रांच ने सेना के सिपाही परमजीत को गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
सेना के दस्तावेजों की ISI के लिए जासूसी के आरोप में दिल्ली क्राइम ब्रांच ने सेना के सिपाही परमजीत को गिरफ्तार किया है।

जासूसी के आरोप में गिरफ्तार फौज के सिपाही परमजीत की गिरफ्तारी के बाद गुरुवीर को आगरा में दिल्ली क्राइम ब्रांच ने डेरा डाला हुआ है। सूत्रों के अनुसार आर्मी एरिया में टीम ने सुबह से दोपहर तक जांच की और वापस चली गई। इस दौरान वहां सिर्फ गिने चुने लोगों को ही जाने की अनुमति दी गई।

जानकारी के मुताबिक गुरुवार को दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम सुबह आगरा कैंट क्षेत्र में आर्मी के एक कैंप ऑफिस पहुंची थी। दिन भर जांच के बाद टीम वापस दिल्ली रवाना हो गई। इस कार्रवाई को गुप्त रखा गया है।

कल हुई थी फौजी की गिरफ्तारी

सेना के दस्तावेजों को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के लिए जासूसी के आरोप में दिल्ली क्राइम ब्रांच ने सेना को सब्जियां सप्लाई का ठेका लेने वाले आतंकी हबीबुल रहमान से पूछताछ के बाद आगरा कैंट में तैनात सेना के सिपाही परमजीत को गिरफ्तार किया था। परमजीत पर आरोप है कि वो हबीबुल रहमान को भारतीय सेना के खुफिया दस्तावेज देता था और हबीबुल रहमान उन दस्तावेजों को व्हाट्सऐप और टेलीग्राम के जरिये पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI को देता था।

दो साल से कर रहा था काम

जानकारी मिली है कि परमजीत दो साल पहले पोकरण में तैनात था, वहीं उसकी हबीबुल से मुलाकात हुई थी। हबीबुल के कुछ रिश्तेदार पाकिस्तान के सिंध इलाके में रहते हैं। वह कुछ साल पहले पाकिस्तान गया था, जहां वह ISI के संपर्क में आया था। वह दो साल से ISI को गोपनीय सूचनाएं मुहैया करवा रहा था।

पहले भी आगरा में हो चुकी आतंकी रेकी

जानकारी के मुताबिक साल 2014 और 2015 में ISI एजेंट मोहम्मद एजाज और दो इंडियन मुजाहिदीन के आतंकियों को गिरफ्तार किया गया था और उसके पास से आगरा कैंट, यमुना एक्सप्रेस-वे पर फाइटर प्लेन उतरने के कई दस्तावेज और नक्शे मिले थे। पुलिस को उसके द्वारा 7 बार आगरा आकर रेकी किए जाने की जानकारी हुई थी। उसके द्वारा मथुरा में भी रेकी करने की जानकारी हुई थी।

साल 2014 में इंडियन मुजाहिदीन के 2 आतंकी बरकत और शाकिब अंसारी राजस्थान एटीएस के द्वारा पकड़े गए थे। उनके द्वारा आगरा के बालूगंज क्षेत्र में एक सपा नेता के होटल में पर्यटक बन रुकने और और रेकी की जानकारी हुई थी। आतंकियों ने आगरा में बम धमाके की साजिश की भी जानकारी हुई थी।

आतंकी साजिश के खुलासे के बाद आगरा में हाई अलर्ट

आतंकियों के पकड़े जाने के बाद से शहर में हाई अलर्ट जारी है। एलआईयू और इंटेलिजेंस की टीमें लगातार चप्पे चप्पे पर नजर रख रही है। ताजमहल के अंदर और बाहर समेत सभी स्मारकों और बस अड्डे व रेलवे स्टेशनों पर सघन चेकिंग की जा रही है। होटलों के संचालकों को हर यात्री की पूरी जानकारी रखने, सीसीटीवी चालू रखने और संदिग्ध गतिविधि दिखने पर तत्काल पुलिस को जानकारी देने के आदेश दिए गए हैं।

खबरें और भी हैं...