यात्री को कान में दी ट्रेन में ब्लास्ट की सूचना:घबराकर पुलिस को कॉल किया, 2 घंटे हुई चेकिंग; 1600 यात्रियों की सांसें अटकीं

आगरा2 महीने पहले

स्वतंत्रता दिवस पर झांसी से दिल्ली जा रही ताज एक्सप्रेस में बम की अफवाह से एक सिरफिरे ने सनसनी फैला दी। सिरफिरा ट्रेन में चढ़ा। एक यात्री के कान में बोला कि ट्रेन में बम रखा है। दिल्ली पहुंचते ही फट जाएगा। इतना कहने के बाद सिरफिरा वहां से चला गया।

घबराए यात्री ने इसकी सूचना 112 नंबर पर पुलिस कंट्रोल रूम को दी। तब तक ट्रेन आगरा से मथुरा पहुंच चुकी थी। ट्रेन को मथुरा में दो घंटे के लिए रोका गया। सभी कोच खाली कराकर चेकिंग कराई गई। इस दौरान ट्रेन में सवार 1600 यात्रियों की सांसें अटकी रहीं। चेकिंग में सब ठीक मिलने के बाद ट्रेन को रवाना किया गया। जांच में पता चला कि भ्रामक सूचना देने वाला आगरा का रहने वाला है। वह मानसिक रूप से ठीक नहीं। इसके बाद GRP और RPF ने CCTV फुटेज से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

आगरा के खेरिया मोड़ का रहने वाला है आरोपी
एसपी जीआरपी मोहम्मद मुश्ताक ने बताया कि सोमवार शाम को झांसी से दिल्ली जा रही ताज एक्सप्रेस के डी-2 कोच में सीट नंबर 54 पर सफर कर रहे एक यात्री ने 112 पुलिस कंट्रोल रूम पर फोन कर ट्रेन में बम होने की बात कही। उसने बताया कि एक आदमी आया था और उसने बोला कि ट्रेन में बम रखा है। दिल्ली पहुंचते ही बम फट जाएगा। स्वतंत्रता दिवस पर ट्रेन में बम की सूचना पर पुलिस एक्टिव हो गई। तत्काल GRP को सूचना दी गई।

जीआरपी कैंट ने ट्रेन में बम की अफवाह फैलाने वाले आरोपी मुकेश को गिरफ्तार कर लिया है।
जीआरपी कैंट ने ट्रेन में बम की अफवाह फैलाने वाले आरोपी मुकेश को गिरफ्तार कर लिया है।

जीआरपी ने आरपीएफ को साथ लिया। मगर, तब तक ट्रेन मथुरा के लिए निकल चुकी थी। घटना के बारे में मथुरा में सूचना दी गई। स्टेशन पर बीडीएस, जीआरपी, आरपीएफ और थाना पुलिस पहुंच गई। ट्रेन के मथुरा पहुंचते ही चेकिंग शुरू कर दी। अचानक चेकिंग से यात्री भी घबरा गए। यात्रियों को नीचे उतार कर चेकिंग की गई। करीब दो घंटे तक पूरी ट्रेन को खंगालने के बाद जब कुछ नहीं मिला, तब ट्रेन को आगे रवाना किया गया। सुरक्षा एजेंसियों की जान में जान आई।

मथुरा स्टेशन पर ताज एक्सप्रेस में जांच करता बम निरोधक दस्ता।
मथुरा स्टेशन पर ताज एक्सप्रेस में जांच करता बम निरोधक दस्ता।

1600 यात्रियों की सांसें दो घंटे अटकी रहीं
आगरा से रवाना होकर ताज एक्सप्रेस रात 7.31 बजे मथुरा स्टेशन पहुंची थी। चेकिंग के रात को ट्रेन 9.28 बजे दिल्ली के लिए रवाना हुई। मथुरा के स्टेशन मैनेजर एसके श्रीवास्तव ने बताया कि दो घंटे तक ट्रेन को रोककर चेकिंग की गई। ट्रेन में किसी प्रकार की कोई संदिग्ध सामग्री नहीं मिली। इसके बाद ही ट्रेन में सफर कर रहे 1600 यात्रियों की जान में जान आई। रेलवे के अधिकारियों ने भी राहत की सांस ली।

सोमवार रात को ताज एक्सप्रेस को मथुरा में रोककर दो घंटे तक चेकिंग की गई।
सोमवार रात को ताज एक्सप्रेस को मथुरा में रोककर दो घंटे तक चेकिंग की गई।

CCTV से तलाशा गया आरोपी
आगरा पुलिस को 112 नंबर कंट्रोल रूम पर यात्री ने बम की जानकारी दी थी। जैसे ही ट्रेन में बम होने की जानकारी मिली, उसके बाद आगरा GRP और RPF एक्टिव हो गई। सूचना देने वाले यात्री की तलाश के लिए स्टेशन पर लगे CCTV कैमरे खंगाले गए। इसमें डी-2 कोच के पास एक संदिग्ध दिखाई दिया।

RPF ने यात्री की फुटेज निकालकर मथुरा RPF को भेजी। मथुरा में डी-2 कोच में सफर करने वाले यात्री को फुटेज दिखाई तो उन्होंने उस यात्री के बारे में पुष्टि की। जांच में पता चला कि वो यात्री आगरा में खेरिया मोड़ का रहने मुकेश नाम का व्यक्ति है। SP GRP ने बताया कि रात में दबिश देकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पता चला है कि आरोपी मानसिक रूप से थोड़ा कमजोर है। वो पहले भी इस तरह की हरकत कर लोगों को परेशान कर चुका है।

एपी एक्सप्रेस में भी दी थी आतंकवादी की सूचना
कुछ दिन पहले दिल्ली से हैदराबाद जाने वाली एपी एक्सप्रेस में एक यात्री ने अलकायदा के आतंकवादी के सफर करने की सूचना आगरा कैंट पर RPF को दी थी। इसके बाद रात डेढ़ बजे ट्रेन को ग्वालियर में रोककर चेकिंग कराई गई थी। मगर, चेंकिंग में कुछ नहीं मिला था। इसके बाद अब ताज एक्सप्रेस में बम की भ्रामक सूचना देकर खलबली मचा दी गई।